scorecardresearch
 

पिता नहीं चाहते थे वेटलिफ्टर बनाना, मां ने किया प्रेरित, देखें किन हालात में Mirabai ने जीता पदक

पिता नहीं चाहते थे वेटलिफ्टर बनाना, मां ने किया प्रेरित, देखें किन हालात में Mirabai ने जीता पदक

मीराबाई चानू ने टोक्यो ओलिंपिक में भारत को पहला मेडल दिला दिया. टोक्यो ओलंपिक 2020 (Tokyo Olympics) में भारतीय वेटलिफ्टर मीराबाई चानू ने 49 किलोग्राम वर्ग में सिल्वर मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है. पीएम मोदी ने मीराबाई को बधाई दी और उन्हें देश के लिए एक प्रेरणा बताया. मीराबाई चानू का जन्म 8 अगस्त 1994 को मणिपुर के नोंगपेक काकचिंग गांव में हुआ था. मणिपुर से आने वालीं मीराबाई चानू का जीवन संघर्ष से भरा रहा है. मीराबाई का बचपन पहाड़ से जलावन की लकड़ियां बीनते बीता. एक छोटे से गांव से निकलकर टोक्यो ओलंपिक में मेडल जीतने वाली मीराबाई चानू की शुरुआत कहां से हुई, इस Video में देखिए.

Mirabai Chanu created history on Saturday after she won India's first medal at the Tokyo Olympics, winning a silver medal in 49kg weightlifting with a total lift of 202 kg. Chanu is the second woman after PV Sindhu to win silver at the Olympics. She is also the second weightlifter after Karnam Malleswari to win an Olympic medal. Watch Mirabai Chanu's journey in this video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें