scorecardresearch
 

गांगुली बोले- रोहित को पता है उनका करियर लंबा है, सिर्फ यही IPL नहीं खेलना

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली चाहते हैं कि चोटिल सीनियर सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा प्ले ऑफ में अपनी आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस (MI) की ओर खेलने का फैसला लेने के दौरान सतर्कता बरतें.

Rohit Sharma (PTI) Rohit Sharma (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गांगुली चाहते हैं कि रोहित शर्मा प्ले ऑफ में सतर्कता बरतें
  • उन्हें चोट की वजह से ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर रखा गया है
  • चोट लगने के बाद आईपीएल में खेलने उतरे रोहित शर्मा

भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली चाहते हैं कि चोटिल सीनियर सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा प्ले ऑफ में अपनी आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस (MI) की ओर खेलने का फैसला लेने के दौरान सतर्कता बरतें, क्योंकि उनकी पैर की मांसपेशियों की चोट के बढ़ने का खतरा है. जिसके कारण उन्हें ऑस्ट्रेलिया दौरे पर जाने वाली भारतीय टीम में भी जगह नहीं दी गई.

33 साल के रोहित मौजूदा आईपीएल में 18 अक्टूबर को किंग्स इलेवन पंजाब (KXIP) के खिलाफ मैच के बाद बाएं पैर की मांसपेशियों में चोट के कारण अगले चार मुकाबले नहीं खेल पाए. लीग स्टेज के आखिरी मैच में मंगलवार को वह सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के खिलाफ मैदान पर उतरे. मुंबई की पारी के दौरान वह बड़ी पारी नहीं खेल पाए और सिर्फ 4 रन बना पाए.

बीसीसीआई अध्यक्ष ने कहा कि बोर्ड रोहित जैसे खिलाड़ी की मैदान पर वापसी के लिए हर संभव प्रयास करेगा. मुंबई इंडियंस को गुरुवार को प्ले ऑफ में दिल्ली कैपिटल्स (DC) से भिड़ना है. गांगुली ने पीटीआई को से कहा, ‘हम चाहते हैं कि वह (रोहित) पूर तरह उबर जाएं. यह बीसीसीआई का काम है कि वह अपने सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों को मैदान पर उतारे. अगर वह उबर जाते हैं तो खेलेंगे.’

मुंबई इंडियंस द्वारा पोस्ट किए गए उस वीडियो के बारे में पूछने पर जिसमें रोहित नेट पर बल्लेबाजी करते दिख रहे हैं, गांगुली ने इस सीनियर खिलाड़ी को सतर्क रहने को कहा. पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘हां, आप नहीं चाहते कि वह दोबारा चोटिल हों. उनकी मांसपेशियों में चोट है और दोबारा ऐसा हो सकता है. इसके बाद उन्हें वापसी करने में और अधिक समय लगेग. लेकिन हां, ऐसे लोग हैं जो उसके साथ काम कर रहे हैं,’

उन्होंने कहा, ‘मुंबई इंडियंस का फिजियो उनके साथ काम कर रहे हैं. भारतीय फिजियो (नितिन पटेल) भी वहां हैं. रोहित को भी पता है कि उसके सामने लंबा करियर है और यह सिर्फ इस आईपीएल की बात नहीं है.’

भारत के लिए 113 टेस्ट और 311 वनडे खेलने वाले गांगुली का मानना है कि ट्रेनिंग के दौरान जो चीज सही लग रही हो जरूरी नहीं है कि मैच की स्थिति में भी वह सही हो. उन्होंने कहा, ‘मैं आपको बता सकता हूं कि अभ्यास में आप जो चीजें आसानी से कर रहे हो, मैच की स्थिति के दौरान आपको इसमें जूझना पड़ सकता है. दबाव की स्थिति में मांसपेशियां अलग प्रतिक्रिया देती हैं.’

बीसीसीआई अध्यक्ष ने हालांकि कहा कि ईशांत शर्मा मांसपेशियों में खिंचाव से अच्छी तरह उबर रहे हैं और उन्हें उम्मीद है कि यह तेज गेंदबाज दिसंबर के मध्य में ऑस्ट्रलिया में शुरू होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए उपलब्ध रहेगा.

उन्होंने कहा, ‘हां, हमें उम्मीद है कि ईशांत टेस्ट मैचों में वापसी करेंगे. उसने छोटे रन अप और छोटे स्पेल में गेंदबाजी शुरू कर दी है. वह एनसीए में गेंदबाजी कर रहे हैं. लेकिन बीसीसीआई के तेज गेंदबाजों के लिए नियमों के अनुसार ईशांत ऑस्ट्रेलिया में दो प्रथम श्रेणी मैच खेलेंगे.’

आईपीएल के मौजूदा टूर्नामेंट के दौरान कुछ खिलाड़ियों को चोटें लगीं और गांगुली ने कहा कि कोविड-19 के कारण इतने लंबे ब्रेक के बाद ऐसा होने की आशंका थी. गांगुली ने युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत का भी समर्थन किया, जिन्हें अपना स्वाभाविक खेल नहीं खेलने और 115 से कम के स्ट्राइक रेट से रन बनाने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ रहा है.

आईपीएल के सफल आयोजन के बाद बीसीसीआई अध्यक्ष की नजरें अब अगले साल जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में रणजी ट्रॉफी के आयोजन पर टिकी हैं.

देखें: आजतक LIVE TV 

उन्होंने कहा, ‘हमने आयोजन स्थल चुन लिए हैं जहां हम रणजी ट्रॉफी के लिए जैविक रूप से सुरक्षित माहौल तैयार कर सकते हैं, लेकिन जब तक राज्य संघों से बात नहीं करते तब तक हम कोई घोषणा नहीं करेंगे.’

गांगुली ने आश्वासन दिया, ‘38 राज्य संघ हैं और कुछ सदस्यों ने मेजबानी की पेशकश की है क्योंकि उनके मुख्य शहर में कई मैदान हैं. हम खिलाड़ियों के लिए सर्वश्रेष्ठ सुरक्षित माहौल तैयार करेंगे.’

गांगुली ने साथ ही पुष्टि की कि बीसीसीआई देवांग गांधी, शरणदीप सिंह और जतिन परांजपे की जगह जल्द ही तीन नए चयनकर्ताओं की नियुक्ति करेगा. इन तीनों का चार साल का कार्यकाल पूरा हो गया है. उन्होंने कहा, ‘हां, हमारे पास नई चयन समिति होगी. सिर्फ दो बचेंगे (सुनील जोशी और हरविंदर सिंह). बाकी तीन का कार्यकाल पूरा हो गया है, हम तीन और चयनकर्ता चुनने होंगे.’

गांगुली को साथ ही यकीन है कि भारत अगले साल इंग्लैंड की सफल मेजबानी करेगा. उन्होंने कहा, ‘हम इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज भारत में आयोजित करेंगे. मैं आपको आश्वस्त कर सकता हूं कि इंग्लैंड की ओर से कोई आशंकाएं नहीं हैं.’

अगले साल अप्रैल-मई में होने वाले अगले आईपीएल पर गांगुली ने कहा कि उनकी प्राथमिकता भारत रहेगा. उन्होंने कहा, ‘आईपीएल भारत के लिए टूर्नामेंट है, हम चाहते हैं कि यह भारत में हो. अब भी छह महीने हैं. हम आकलन करते रहेंगे.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें