scorecardresearch
 

Mumbai Indians IPL 2022: रोहित शर्मा ही साबित हुए मुंबई इंडियंस की बड़ी कमजोरी, ऑक्शन की गलतियां पड़ीं भारी!

पांच बार की चैम्पियन मुंबई इंडियंस इस बार प्वाइंट टेबल में सबसे फिसड्डी रही. कप्तान रोहित शर्मा की फॉर्म चिंता का विषय बनी रही, साथ ही कई खिलाड़ियों ने बेहतर प्रदर्शन नहीं किया. मुंबई इंडियंस के लिए यह सीजन कैसा गया, जानिए...

X
Rohit Sharma (@IPL) Rohit Sharma (@IPL)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई इंडियंस प्वाइंट टेबल में 10वें नंबर पर रही
  • रोहित शर्मा की बल्लेबाजी ने भी किया निराश

इंडियन प्रीमियर लीग की सबसे सफल टीम मुंबई इंडियंस इस सीजन में सबसे फिसड्डी साबित हुई. पांच बार आईपीएल का खिताब जीतने वाली मुंबई की टीम इस सीजन में प्वाइंट टेबल में सबसे नीचे यानी दसवें स्थान पर रही. भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रोहित शर्मा की अगुवाई में टीम फेल साबित हुई, लगातार कई बड़ी गलतियां टीम से हुईं. पांच बार की चैम्पियन टीम कहां पर मात खा गई, एक बार टीम के प्रदर्शन पर नज़र डालते हैं. 

बल्लेबाजी ने दे दिया धोखा

मुंबई के प्रदर्शन पर बात करने की शुरुआत अगर करें बल्लेबाजी पर फोकस करते हैं. टीम के पास मौजूदा वक्त के सबसे बेहतरीन बल्लेबाजों में से एक रोहित शर्मा हैं, जो टीम के कप्तान हैं. लेकिन मुंबई इंडियंस को खुद रोहित शर्मा ने ही सबसे ज्यादा निराश किया. इस पूरे सीजन में रोहित शर्मा एक भी फिफ्टी नहीं जमा पाए, जो आईपीएल इतिहास में पहली बार हुआ है. रोहित ने इस सीजन में 14 मैच में 268 रन बनाए और उनका औसत 20 से नीचे रहा.

मुंबई की बल्लेबाजी का हाल यही बताता है कि टीम के लिए सिर्फ एक बल्लेबाज ने 400 से अधिक रन बनाए. इस सीजन के सबसे महंगे खिलाड़ी ईशान किशन ने 418 रन बनाए, उनके बाद युवा तिलक वर्मा ने सभी को प्रभावित किया और 397 रन बनाए. इनके अलावा कोई बल्लेबाज पूरे टूर्नामेंट में अपनी फॉर्म को बरकरार नहीं रख पाया. कायरन पोलार्ड कई बार मैच फिनिश करने में फेल हुए, तो टिम डेविड के रूप में टीम को अच्छा फिनिशर मिला लेकिन मुंबई ने उन्हें भरपूर मौके नहीं दिए. 

क्लिक करें: कप्तानी पर बवाल, बल्लेबाजी फेल और सबसे बुरा रिकॉर्ड, CSK के लिए कैसा रहा IPL 2022?

बुमराह के सहारे चली मुंबई की बॉलिंग

मुंबई इंडियंस ने ऑक्शन में जब जोफ्रा आर्चर को खरीदा, तब सोशल मीडिया पर पूरा माहौल बन गया कि जसप्रीत बुमराह और जोफ्रा आर्चर की जोड़ी आईपीएल के सबसे बेहतरीन बॉलिंग अटैक की अगुवाई करेगी. लेकिन जोफ्रा आर्चर चोट के चलते आईपीएल ही नहीं खेल पाए और यहां पर ही मुंबई इंडियंस के साथ खेल हो गया. 

जसप्रीत बुमराह के अलावा पूरे आईपीएल में मुंबई इंडियंस के पास ऐसा कोई बॉलर नहीं दिखा, जो अपने दम पर मैच का रुख पलट सके. जसप्रीत बुमराह ने 14 मैच में 15 विकेट लिए और इस दौरान कुछ यादगार स्पेल भी डाले. जसप्रीत बुमराह के बाद डेनिएल सैम्स ने मुंबई के लिए 13 विकेट लिए, लेकिन उनके कुछ ओवर्स ने आईपीएल में मुंबई की लुटिया भी डुबाने की कोशिश की. मुंबई इंडियंस को यहां एक बेहतरीन स्पिनर की कमी भी महसूस हुई, ऋतिक शौकीन या मयंक मार्केंडय जैसे खिलाड़ियों ने उम्मीद तो जगाई लेकिन ज्यादा कमाल नहीं कर पाए. 

ऑक्शन की गलतियां पड़ गई भारीं ?

इस बार मेगा ऑक्शन हुआ था, ऐसे में सबसे बड़ी टीमों को दिक्कत इस बात से हुई कि उनको दोबारा अपनी टीम खड़ी करनी पड़ी. चेन्नई का भी यही हाल हुआ और मुंबई के साथ भी कुछ ऐसा ही हुआ. मुंबई इंडियंस ने ऑक्शन में कुछ ऐसे फैसले लिए जिसपर शुरुआत से ही सवाल खड़े हो रहे थे. ईशान किशन पर 15.25 करोड़ रुपये खर्च कर देना, जोफ्रा आर्चर पर ये जानते हुए भी कि वह इस सीजन में नहीं खेलेंगे तब भी 8 करोड़ रुपये खर्च कर दिए. 

वहीं टीम डेविड जिनका दुनियाभर की अलग-अलग लीग में नाम है, उन्हें 8.25 करोड़ रुपये दिए लेकिन सिर्फ 8 ही मैच खिलाए. मुंबई इंडियंस के लिए हार्दिक पंड्या, क्रुणाल पंड्या को रिलीज़ करना भी महंगा पड़ा क्योंकि दोनों ही खिलाड़ी अपनी-अपनी टीमों में बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं.

रोहित शर्मा ही साबित हुए सबसे बड़ी कमजोरी 

पांच बार की चैम्पियन टीम का इतना बुरा हाल होगा यह किसी ने नहीं सोचा था. लेकिन मुंबई इंडियंस की सबसे कमजोर कड़ी खुद कप्तान रोहित शर्मा ही साबित हुए, जो ना बल्ले से कोई कमाल कर सके और कप्तानी में भी वह औसत ही नज़र आए. रोहित शर्मा ने खुद भी इस बात को माना कि टीम की उनसे जो उम्मीदें थीं, वह उसपर खरे नहीं उतर पाए हैं लेकिन वह अपनी हर संभव कोशिश कर रहे हैं. 

रोहित शर्मा ने इस सीजन में 14 मैच में 268 रन बनाए, इस दौरान उनका औसत 19.14 का रहा. रोहित शर्मा इस सीजन में एक भी फिफ्टी नहीं जड़ पाए, जो आईपीएल के इतिहास में पहली बार हुआ. जबकि यह दूसरी बार हुआ कि वह किसी सीजन में 300 से अधिक रन ना बना पाए हों. 

बल्लेबाज रोहित शर्मा से इतर कप्तान रोहित शर्मा भी इस बार सवालों में दिखाई दिए. शुरुआत के आठ मैच गंवाने वाली मुंबई इंडियंस पहले अपना कोई कॉम्बिनेशन ही नहीं बैठा पाई. सही प्लेइंग-11 क्या हो, यह तय करने में मुंबई इंडियंस कन्फ्यूज़ रही. तभी टिम डेविड जैसे खिलाड़ी को बाहर बैठाया गया, युवा खिलाड़ियों को मौका मिला लेकिन हर किसी के लिए यह अवसर नहीं आया. 

अंत में माहौल ऐसा बना कि फैन्स भी इस बात से खफा हो गए कि जब हर युवा प्लेयर को मौका मिल रहा है, तब अर्जुन तेंदुलकर को मौका क्यों नहीं मिल रहा है. खैर, मुंबई इंडियंस एक बड़ी टीम है जिसने बार-बार अपने खेल से हर किसी को हैरान किया है. क्योंकि इस वक्त टीम ट्रांजिशन के पीरियड से निकल रही है, ऐसा सीजन जाना कोई हैरानी वाली बात नहीं है. ऐसे में फैन्स को उम्मीद होगी कि अगले सीजन में मुंबई इंडियंस दमदार वापसी करेगी. 

आईपीएल 2022 में मुंबई इंडियंस
मैच खेले
- 14, जीत- 4, हार- 10

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें