scorecardresearch
 

Rishabh Pant, Ind Vs Sa: ऋषभ पंत के काउंटर अटैक ने अफ्रीका को छकाया, जड़ दी ताबड़तोड़ फिफ्टी

दूसरी पारी में भारत के 58 के स्कोर पर ही 4 विकेट गिर गए थे, ऐसे में विराट कोहली और ऋषभ पंत के सामने पारी को संभालने और स्कोर को आगे बढ़ाने की चुनौती थी. विराट ने एक तरफ क्रीज़ पर अंगद की तरह पैर जमा दिया तो दूसरी ओर ऋषभ पंत ने अपना नैचुरल गेम खेलना शुरू किया.

Rishabh Pant (Getty) Rishabh Pant (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दूसरी पारी में विराट-पंत ने संभाली भारत की पारी
  • 58 के स्कोर पर ही गिर गए थे भारत के चार विकेट

Rishabh Pant, Ind Vs Sa: केपटाउन टेस्ट की दूसरी पारी में भारतीय टीम शुरुआत में लड़खड़ा गई थी. लेकिन कप्तान विराट कोहली और ऋषभ पंत की पार्टनरशिप ने टीम इंडिया को हौसला दिया. खास बात ये रही कि लंबे वक्त से आउट ऑफ फॉर्म चल रहे ऋषभ पंत ने यहां पर अपने अंदाज में गेम खेला और अफ्रीकी बॉलर्स पर काउंटर अटैक कर दिया. 

दूसरी पारी में भारत के 58 के स्कोर पर ही 4 विकेट गिर गए थे, ऐसे में विराट कोहली और ऋषभ पंत के सामने पारी को संभालने और स्कोर को आगे बढ़ाने की चुनौती थी. विराट ने एक तरफ क्रीज़ पर अंगद की तरह पैर जमा दिया तो दूसरी ओर ऋषभ पंत ने अपना नैचुरल गेम खेलना शुरू किया.

ऋषभ पंत ने लंच तक 60 बॉल में 51 रन स्कोर कर लिए हैं, इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट 80 से ऊपर का रहा. पंत ने अपनी पारी में चार चौके और 1 छक्का जड़ दिया. ऋषभ पंत ने इस दौरान अपनी बल्लेबाजी पर 92 फीसदी तक कंट्रोल दिखाया.


इस दौरे पर ऋषभ पंत जिस तरह से आउट हो रहे थे और बड़ा स्कोर नहीं कर पा रहे थे, उस पर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे. ऋषभ पंत को लेकर पूर्व क्रिकेटर सुनील गावस्कर, गौतम गंभीर समेत अन्य कई खिलाड़ियों ने सख्त रुख अपनाने का सुझाव दिया था. 

मौजूदा सीरीज़ में ऋषभ पंत

इस सीरीज में ऋषभ पंत पूरी तरह से फेल रहे, अभी तक उन्होंने इस सीरीज़ में 8, 34, 17, 0, 27 रन ही बनाए. पंत के अलावा भी कई दूसरे बल्लेबाज हैं, जो इस सीरीज़ में पूरी तरह से फेल साबित हुए. लेकिन ऋषभ पंत के आउट होने के तरीके पर हर किसी ने सवाल खड़े किए. हालांकि, बल्लेबाजी से इतर विकेट के पीछे पंत ने बढ़िया काम किया. 

ऋषभ पंत की पिछली 16 पारियों में ये दूसरी फिफ्टी है, इससे पहले उन्होंने इंग्लैंड के खिलाफ सितंबर, 2021 में पचास रन जड़े थे. इन दो फिफ्टी के अलावा ऋषभ पंत कोई कमाल नहीं कर पाए, कई पारियों में वह दहाई का आंकड़ा भी पार नहीं कर सके थे. इसी वजह से उन्हें ब्रेक देने की मांग उठनी लगी थी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×