scorecardresearch
 

Pujara-Rahane, Ind Vs Sa: पुजारा-रहाणे की विदाई का वक्त...? सीरीज में मिले पूरे मौके, उम्मीद पर नहीं उतरे खरे

टीम इंडिया के सीनियर खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को खराब फॉर्म के बावजूद लगातार मौके मिल रहे हैं. लेकिन पूरी सीरीज़ में दोनों ही फेल नज़र आए, ऐसे में अब दोनों के भविष्य पर सवाल खड़े होने शुरू हो गए हैं.

Cheteshwar Pujara (Getty) Cheteshwar Pujara (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे की खराब फॉर्म जारी
  • पूरी सीरीज़ में दोनों ने जमाया सिर्फ एक-एक अर्धशतक

Pujara-Rahane, Ind Vs Sa: भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेली जा रही टेस्ट सीरीज़ का आखिरी मैच केपटाउन में जारी है. भारत की दूसरी पारी गुरुवार को पूरी तरह से लड़खड़ा गई. टीम इंडिया को इस सीरीज में मिडिल ऑर्डर ने पूरी तरह से धोखा दिया है और सबसे ज्यादा सवाल सीनियर खिलाड़ी चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे पर खड़े हो रहे हैं. 

सीरीज़ जब शुरू भी नहीं हुई थी, उस वक्त ही दोनों के चयन पर सवाल खड़े हो रहे थे. लेकिन टीम मैनेजमेंट ने सीनियर खिलाड़ियों को मौका दिया और विदेशी धरती पर साथ ले जाने का फैसला किया. लेकिन अब जब तीनों टेस्ट मैच खत्म हो गए हैं, तब यही महसूस होता है कि मैनेजमेंट का फैसला गलत ही साबित हुआ.

सीरीज में पूरी तरह से फेल, सिर्फ एक ही सही पारी निकली

चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे लंबे वक्त से बल्ले से बड़े स्कोर के लिए तरस रहे हैं. घरेलू धरती हो या फिर विदेशी धरती, हर जगह दोनों का बल्ला रूठा रहा है. इस सीरीज़ में भी कुछ ऐसा ही हाल रहा. अगर चेतेश्वर पुजारा की बात करें तो तीन मैच की कुल 6 पारियों में उनके बल्ले से सिर्फ 124 रन ही निकले, इनमें एक अर्धशतक शामिल है. वहीं, अजिंक्य रहाणे ने भी 3 मैच की 6 पारियों में 136 रन बनाए हैं उनके बल्ले से भी एक अर्धशतक निकला है.  

चेतेश्वर पुजारा (मौजूदा सीरीज में)
3 मैच, 6 पारी, 124 रन, 20.66 औसत, 1 अर्धशतक (0, 16, 3, 53, 43, 9)

अजिंक्य रहाणे (मौजूदा सीरीज में)
3 मैच, 6 पारी, 136 रन, 22.66 औसत, 1 अर्धशतक (48, 20, 0, 58, 9, 1)

बता दें कि अजिंक्य रहाणे के बल्ले से आखिरी शतक साल 2020 में निकला था, जब उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कप्तानी करते हुए मेलबर्न टेस्ट में शतक जड़ा था. जबकि चेतेश्वर पुजारा का आखिरी शतक साल 2019 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ही आया था, तब उन्होंने सिडनी में 193 रनों की पारी खेली थी.

क्लिक करें: पुजारा-रहाणे पर अब क्या होगा मैनेजमेंट का फैसला? इन युवाओं को करना होगा इंतजार 

सीनियर्स की वजह से बाहर बैठ रहे युवा

चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे को लगातार मौका देने पर कुछ पूर्व क्रिकेटर्स ने सवाल भी खड़े किए थे. क्योंकि ऐसा पिछले दो साल से हो रहा है, जब दोनों का औसत 20 के आसपास ही है. दिक्कत ये भी है कि दोनों के टीम में शामिल होने से अच्छी फॉर्म में चल रहे श्रेयस अय्यर को बाहर बैठना पड़ रहा है, साथ ही टीम में आने को तैयार हनुमा विहारी, सूर्यकुमार यादव भी मौका नहीं ले पा रहे हैं.

श्रेयस अय्यर ने तो अपने टेस्ट डेब्यू में शतक जड़ा था, जबकि हनुमा विहारी ने सिडनी टेस्ट में ऐतिहासिक पारी खेलने के बाद 2 ही मैच खेले हैं. ऐसे में इस सीरीज में तो इन युवा खिलाड़ियों को बाहर ही बैठना पड़ा, लेकिन आने वाली टेस्ट सीरीज में सेलेक्टर्स, टीम मैनेजमेंट के सामने यक्ष प्रश्न यही होगा कि सीनियर्स और जूनियर्स में से किसे चुना जाए. 

मयंक अग्रवाल पर भी गिरेगी गाज?

चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे के अलावा मयंक अग्रवाल भी सवालों के घेर में हैं. रोहित शर्मा की गैर-मौजूदगी में मयंक अग्रवाल को केएल राहुल के साथ ओपनिंग करने का मौका मिला. पूरी सीरीज़ में वह इस मौके को किसी भी तरह से भुना नहीं पाए. मयंक अग्रवाल इस सीरीज में सिर्फ 135 रन ही बना पाए हैं. ऐसे में साफ है कि अगर रोहित शर्मा अगली टेस्ट सीरीज में वापस आते हैं, तो मयंक अग्रवाल का बाहर जाना तय है. 

मयंक अग्रवाल मौजूदा सीरीज़ में
मैच 3, पारी 6, रन 135, औसत 22.50, अर्धशतक 1
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×