scorecardresearch
 

Ranji Trophy Final: मध्य प्रदेश की नजरें रणजी में इतिहास रचने पर, आज से मुंबई की धाकड़ टीम से मुकाबला

रणजी ट्रॉफी 2022 सीजन के फाइनल में आज मध्य प्रदेश और मुंबई के बीच जंग होगी. यह मैच बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में खेला जाएगा...

X
Prithvi Shaw and Aditya Shrivastava (Twitter) Prithvi Shaw and Aditya Shrivastava (Twitter)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई ने अब तक 41 बार रणजी खिताब जीता
  • मध्य प्रदेश की टीम पहला खिताब जीतने उतरेगी

Ranji Trophy Final 2022: भारतीय घरेलू क्रिकेट टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी में अब खिताबी जंग शुरू हो गई है. आज से मध्य प्रदेश और मुंबई के बीच बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में फाइनल खेला जाएगा. आदित्य श्रीवास्तव की कप्तानी में मध्य प्रदेश टीम की नजरें अपना पहला रणजी खिताब जीतकर इतिहास रचने पर होंगी.

हालांकि मध्य प्रदेश के लिए खिताब जीतना इतना आसान नहीं होगा, क्योंकि उसकी टक्कर 41 बार की चैम्पियन मुंबई की धाकड़ टीम से होगी. इस बार मुंबई टीम की कप्तानी टीम इंडिया के स्टार ओपनर पृथ्वी शॉ के हाथ में है. वह टीम को चैम्पियन बनाने के लिए पूरी ताकत लगाएंगे.

पिछले 5 मैचों में मुंबई का पलड़ा भारी

यदि मध्य प्रदेश और मुंबई के बीच हुए पिछले पांच रणजी मुकाबलों की बात करें, तो इसमें पलड़ा थोड़ा मुंबई की ओर झुकता नजर आ रहा है. पिछले पांच मैचों में दो मुंबई ने जीते, बाकी तीन ड्रॉ रहे हैं. दोनों टीमों के बीच पिछले चार मैच लगातार ड्रॉ हुए हैं. इनमें से एक में पहली पारी के आधार पर मुंबई को जीत मिली थी.

मध्य प्रदेश की टीम के लिए अच्छी बात यह है कि उसने इस सीजन में अब तक अपने पिछले 5 में से चार मैच जीते हैं. जबकि मुंबई की टीम ने पिछले पांच मैचों में से तीन ही मुकाबले जीते हैं. 

मध्य प्रदेश की ताकत

इस बार IPL में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए हीरो साबित हुए रजत पाटीदार मध्य प्रदेश की टीम में उपकप्तानी कर रहे हैं. रजत ने आईपीएल में इस बार एक शतक भी जमाया था. ऐसे में उनकी शानदार फॉर्म मध्य प्रदेश को अपना पहला खिताब दिला सकती है. उन्होंने अब तक इस सीजन में अपनी टीम के लिए 5 मैचों में सबसे ज्यादा 506 रन बनाए हैं. गेंदबाजों में स्पिनर कुमार कार्तिकेय 5 मैचों में 27 विकेट लेकर ओवरऑल सबसे ज्यादा विकेट की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं.

मुंबई की ताकत

मुंबई के लिए इस बार सरफराज खान ने 5 मैचों में सबसे ज्यादा 803 रन बनाए हैं. वह फाइनल में अपनी टीम के लिए सबसे बड़ी ताकत रहेंगे. गेंदबाजों में स्पिनर शम्स मुलानी ने इस बार कमाल की बॉलिंग की है. उन्होंने 5 मैचों में सबसे ज्यादा 37 विकेट झटके हैं.

दोनों टीमों की संभावित प्लेइंग-11

मुंबई: पृथ्वी शॉ (कप्तान), यशस्वी जायसवाल, अरमान जाफर, सुवेद पारकर, सरफराज खान, हार्दिक तोमोरे (विकेटकीपर), शम्स मुलानी, धवल कुलकर्णी, तनुष कोटियान, मोहित अवस्थी और तुषार देशपांडे.

मध्य प्रदेश: यश दुबे, हिमांशु मंत्री (विकेटकीपर), शुभम शर्मा, रजत पाटिदार, आदित्य श्रीवास्तव (कप्तान), अक्षत रघुवंशी, सारांश जैन, अनुभव अग्रवाल, गौरव यादव, कुमार कार्तिकेय और पुनीत दाते.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें