scorecardresearch
 

कोरोना से जंग: धोनी का योगदान 1 लाख, ट्रोल करने वालों को साक्षी ने दिया जवाब

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की इस आर्थिक मदद को लेकर उनके फैंस सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जता रहे हैं.

धोनी वर्ल्ड कप के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं धोनी वर्ल्ड कप के बाद से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से दूर हैं

कोरोना महामारी ने पूरे विश्व में हड़कंप मचा रखा है. इस वैश्विक महामारी में अब तक 24,000 से अधिक मौतें हुई हैं. भारत में अब तक 18 लोगों की जान जा चुकी है. जानलेवा कोरोना वायरस लड़ने के लिए खेल जगत के कई दिग्गज उतर आए हैं.

पीटीआई के मुताबिक, शुक्रवार को एक और जहां सचिन तेंदुलकर ने 50 लाख रुपये देकर कोरोना से लड़ाई में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की, वहीं धोनी ने पुणे स्थित एक एनजीओ के माध्यम से 1 लाख रुपये का योगदान दिया.

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर की भागीदारी, दिए 50 लाख रुपये

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की इस आर्थिक मदद को लेकर उनके फैंस ने सोशल मीडिया पर जमकर नाराजगी जताई. एक फैन ने लिखा- 800 करोड़ रुपये कमाने वाले धोनी ने सिर्फ एक लाख रुपये की मदद की...यह दुखद है.

दूसरी तरफ सचिन तेंदुलकर ने कोरोना से लड़ाई के लिए प्रधान मंत्री राहत कोष और मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रत्येक को 25 लाख रुपये का योगदान देने का फैसला किया.

एक प्रशंसक ने लिखा- एमएस धोनी को क्यों ट्रोल किया जा रहा है ...यह उनकी पसंद है.

कोरोना से जुड़ी ताजा अपडेट्स के लिए यहां क्लिक करें

धोनी से जुड़ी यह खबर देखते ही देखते वायरल हो गई. बाद में शुक्रवार को ही महेंद्र सिंह धोनी की पत्नी साक्षी ने ट्विटर पर लिखा की यह गलत सूचना है. उन्होंने ट्रोल करने वालों का आड़े हाथों लिया.

क्या है सच्चाई..?

ऐसी रिपोर्ट है कि पुणे स्थित एनजीओ ने लोगों को मदद पहुंचाने के लिए 12.5 लाख रुपये जमा करने का लक्ष्य रखा था. जिसमें एक लाख रुपये कम पड़ रहे थे. ऐसे में धोनी ने इस रकम को पूरा किया. उन्होंने क्राउडफंडिंग वेबसाइट केटो के माध्यम से पुणे स्थित मुकुल माधव फाउंडेशन को सहयोग के तौर पर एक लाख रुपये दिए. यह फाउंडेशन लॉकडाउन के दौरान 14 दिनों तक करीब 100 परिवारों के लिए भोजन की व्यवस्था करेगा.

इससे संदेश यह गया कि धोनी ने महज एक लाख रुपये का दान किया है और वह ट्रोल किए जाने लगे. अभी धोनी की ओर से दान की घोषणा नहीं हुई है. संकट की स्थिति में सचिन तेंदुलकर ने 50 लाख रुपये देकर अपनी जिम्मेदारी निभाई है, लेकिन धोनी की ओर से अब तक कोई ऐलान नहीं हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें