scorecardresearch
 

घर में रखा है इस तरह से फर्नीचर तो बनी रहेगी निगेटिव एनर्जी

वास्तु शास्त्र सकारात्मक ऊर्जा और नकारात्मक ऊर्जा के बारे में हमें बताता है. घर में रखी हुई हर चीज का हमारे ऊपर भी कहीं ना कहीं प्रभाव पड़ता है. आइए जानते हैं कि किस तरह से सामान रखने से आपके घर में निगेटिव एनर्जी बनी रह सकती है.

स्टोरी हाइलाइट्स
  • घर में फर्नीचर को रखें सही तरीके से
  • घर में कम जगह में ज्यादा फर्नीचर ना रखें
  • कुछ लकड़ियों का फर्नीचर ज्यादा शुभ

वास्तु हमारे जीवन की हर छोटी से छोटी चीज को प्रभावित करता है. यहां तक कि हमारे घर में रखा हर सामान कैसा हो, कौन से रंग का हो और कौन सी दिशा में रखा जाए, ये सब वास्तु से जान सकते हैं.

वास्तु शास्त्र में हमेशा ऊर्जा को महत्व दिया जाता है. किसी भी जगह की ऊर्जा वहां रखी चीजों से पता चलती है. आज बात करेंगे आपके घर में रखा फर्नीचर कैसा होना चाहिए. 

-अगर लिविंग रूम या ड्रॉइंग रूम में बहुत ज्यादा फर्नीचर रखा है यानी सोफा सेट या टेबल तो वहां की ऊर्जा बंध जाती है और ऐसी जगह पर नकारात्मकता का अनुभव कर सकते हैं, ऐसे में परिवार में तनाव की स्थिति का सामना करना पड़ सकता है.

-घर के लिए फर्नीचर खरीदते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि फर्नीचर आपके घर में स्थान के अनुसार ही होना चाहिए.

-पीपल, बरगद, की लकड़ी का फर्नीचर सही नहीं माना जाता है.

-फर्नीचर हमेशा शीशम, अशोक, सागवान, साल, अर्जुन या नीम की लकड़ी का बना हुआ ही शुभ माना जाता है.

-घर में फर्नीचर को ऐसे रखें ताकि उसका वजन उत्तर या पूर्व दिशा पर कम रहे और दक्षिण दिशा पर ज़्यादा रहे.

-यदि आपको डाइनिंग टेबल खरीदनी है तो ध्यान रखें कि ये चौकोर हो.

-पलंग के सिरहाने की तरफ चित्रण अंकित कराते समय इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि आकृतियां अच्छी तथा शुभ हों.

-किसी हिंसक जानवर की आकृति जैसे सिंह, बाज़ का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए. अशुभ आकृतियां मन की वृत्ति को खराब करने के साथ ही साथ पारिवारिक जीवन को भी खराब कर देती हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें