scorecardresearch
 

MP: घोड़ी के बजाए बुलडोजर पर निकली इंजीनियर दूल्हे की बारात, ड्राइवर का कटा चालान

MP News: आजकल बुलडोजर शब्द सुनते ही लोगों के मन में माफियाओं के खिलाफ एक्शन लगने लगता है. हालांकि बुलडोजर का अनूठा उपयोग बैतूल के एक दूल्हे ने किया. सिविल इंजीनियर अंकुश जायसवाल ने बैलगाड़ी, घोड़ी या बग्घी की जगह बुलडोजर पर बारात निकाली.

X
बुलडोजर पर निकले दूल्हे राजा बुलडोजर पर निकले दूल्हे राजा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ड्राइवर का कटा 5 हजार रुपए का चालान
  • बैतूल के झल्लार थाने का मामला

मध्य प्रदेश के बैतूल में बुलडोजर पर बारात निकालने के मामले में पुलिस ने जेसीबी चालक के खिलाफ कार्रवाई की है. पुलिस ने चालक के खिलाफ पांच हजार का जुर्माना किया है. रजिस्ट्रेशन नियमों का उल्लंघन करने पर मोटर व्हीकल एक्ट के तहत यह कार्रवाई की गई है.

दरअसल, बैतूल के केरपानी गांव में मंगलवार की रात सिविल इंजीनियर अंकुश जायसवाल की शादी थी. इस दौरान दूल्हे राजा घोड़ी या बग्गी पर नहीं बल्कि बुलडोजर पर बैठकर शादी करने निकले थे. अंकुश दूल्हा बनकर बुलडोजर के आगे लगे बकेट में बैठे थे. यही नहीं, अंकुश के साथ उनके दोस्त भी बैठे और पूरा एन्जॉय कर रहे थे. बारात घर से हनुमान मंदिर तक पहुंची. इस अद्भुत नजारे को हर कोई देखकर अपने मोबाइल में इसे कैद कर लिया और इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया.

अंकुश जायसवाल ने भले ही अपनी शादी को यादगार बनाया हो, पर इसका खामियाजा जेसीबी के मालिक को उठाना पड़ा. चालक के खिलाफ हुई चालान की कार्रवाई में 5 हजार का जुर्माना पुलिस को देना पड़ा. दूल्हा अंकुश जायसवाल पेशे से सिविल इंजीनियर है और टाटा कंसल्टेंसी में कार्यरत हैं. इन दिनों मध्य प्रदेश के राजगढ़ में एक प्रोजेक्ट पर कार्य कर रहे हैं.

इस मामले में सूबेदार संदीप सुनैस ने बताया कि मीडिया के माध्यम से संज्ञान में आया था कि जेसीबी पर दूल्हे ने बैठकर बारात निकाली है. जेसीबी का उपयोग कमर्शियल होता है. इसका उपयोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए नहीं होता है. जेसीबी के चालक ने नियमों का उल्लंघन किया है. पुलिस ने जेसीबी चालक के खिलाफ चालानी कार्यवाही करते हुए 5 हजार रुपये का जुर्माना किया है. ये कार्रवाई मोटर व्हीकल एक्ट के तहत हुई है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें