scorecardresearch
 

Wedding Cost Cutting: कम खर्च में करना चाहते हैं शादी? ये 7 तरकीब बचाएंगी आपका पैसा

शादी-विवाह जैसे कार्यों में लोग खूब पैसा उड़ाते हैं. ख्वाहिशे पूरी करने के चक्कर लोग में कर्जदार तक हो जाते हैं. इस मामले में अगर थोड़ी सी समझदारी दिखाई जाए और प्लानिंग के साथ सारे काम किए जाएं तो यकीन मानिए खर्चों का बोझ काफी हद तक कम किया जा सकता है. अगर आपके घर या रिश्तेदारी में किसी की शादी होने वाली है तो कुछ तरकीबों से पैसा बचाया जा सकता है.

X
Wedding Cost Cutting: कम खर्च में करना चाहते हैं शादी? ये 7 तरकीब बचाएंगी आपका पैसा (Photo: Getty Images) Wedding Cost Cutting: कम खर्च में करना चाहते हैं शादी? ये 7 तरकीब बचाएंगी आपका पैसा (Photo: Getty Images)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्लानिंग के साथ कम हो सकता है शादी के खर्चों का बोझ
  • वेडिंग हॉल से लेकर ड्रेस तक में इन 7 तरकीबों से बचेगा पैसा

शादियों का सीजन चल रहा है और अगले पांच महीने तक तय शुभ मुहूर्त के तहत शादियां होंगी. शादी-विवाह जैसे कार्यों में लोग खूब पैसा उड़ाते हैं. ख्वाहिशें पूरी करने के चक्कर में लोग कर्जदार तक हो जाते हैं. इस मामले में अगर थोड़ी सी समझदारी दिखाई जाए और प्लानिंग के साथ सारे काम किए जाएं तो यकीन मानिए खर्चों का बोझ काफी हद तक कम किया जा सकता है. अगर आपके घर या रिश्तेदारी में किसी की शादी होने वाली है तो कुछ तरकीबों से पैसा बचाया जा सकता है.

वेडिंग हॉल की बुकिंग- सर्दी के मौसम में ज्यादातर लोग गार्डन की बजाए मैरिज हॉल में ही शादी का अरेंजमेंट रखते हैं. लेकिन शादी की तारीख से ठीक पहले इसकी बुकिंग करना आपको महंगा पड़ सकता है. इसलिए इसकी बुकिंग ऑफ सीजन यानी शादी के सीजन से पहले ही कर लें तो आपको सस्ती डील मिल सकती है. ऐसे में जो लोग अगले साल मार्च या अप्रैल में शादी करने जा रहे हैं, उनके लिए अभी वेडिंग हॉल बुक करना बेहतर होगा.

किराए पर लहंगा-शेरवानी- हर दूल्हे या दुल्हन की ख्वाहिश होती है कि अपनी शादी में वे सबसे हटकर दिखें. शादी के कपड़ों पर वे जमकर पैसा बहाते हैं. जबकि ये कपड़े वन टाइम वियर ही होते हैं. शादी के लिए स्पेशल डिजाइनर कलेक्शन खरीदने की बजाए किराए पर लेना ज्यादा बेहतर विकल्प होगा. दिल्ली-एनसीआर में कई जगहों पर ऐसी वेडिंग ड्रेस किराए पर मिलती हैं.

किराए के आभूषण- कपड़ों की तरह आप महंगी ज्वैलरी भी किराए पर ले सकते हैं. यकीन मानिए, शादी के लिए किराए पर मिलने वाली आर्टिफिशियल ज्वैलरी बिल्कुल असली ही लगती है. किराए पर ज्वैलरी लेने से शादी का खर्च भी काफी कम होता है.

वेडिंग प्लानर की मदद- शादी के लिए डेकोरेशन, कैटरिंग, लोकेशन, डीजे और मेकअप आर्टिस्ट के लिए वेडिंग प्लानर से बात कर लेना ठीक है. वेडिंग प्लानर आपके बजट में ही आपको सही सलाह देते हैं. साथ ही, इन्हें शादी के लिए जरूरी सामान किस रेट पर मिलता है, इसकी भी बेहतर जानकारी होती है.

खुद की मेकअप किट- दुल्हन के मेकअप के लिए मेकअप आर्टिस्ट से कॉन्टैक्ट करना अच्छी बात है. लेकिन याद रखें, कोई भी आर्टिस्ट अपने सामान के साथ मेकअप करने पर आपसे दोगुनी रकम वसूलता है. इसलिए पहले तय कर लें कि मेकअप किट आपकी ही होगी. इससे आपका सामान भी काफी बचेगा और रुपए भी कम लगेंगे.

सर्दी के हिसाब तय करें डिश- अगर शादी सर्दी में है तो आप कैटरिंग से उन सभी चीजों को दूर रख सकते हैं जिनकी जरूरत सर्दी के मौसम में नहीं पड़ती. अगर आप इस तरह के 4-5 आइटम भी कम कर लेते हैं तो आपका काफी रुपया बच सकता है और उस पैसे को दूसरी जरूरी चीजों में इनवेस्ट कर सकते हैं.

डिजिटल कार्ड से निमंत्रण- शादी में महंगे इनविटेशन कार्ड की बजाए डिजिटल कार्ड बनवाएं और वही दोस्तों और रिश्तेदारों को भेजें. वैसे भी आजकल इसका काफी ट्रेंड है. अगर आप कार्ड छपवाना ही चाहते हैं तो अपने स्पेशल गेस्ट की एक लिस्ट तैयार कीजिए और उसके हिसाब से ही कार्ड छपवाइए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें