scorecardresearch
 

भदोही पूजा-पंडाल अग्निकांड के बाद एक्शन में पुलिस, गुफानुमा स्ट्रक्चर कराए गए बंद

वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट ने सभी पूजा-पंडालों में बनाए गए गुफानुमा स्ट्रक्चरों को बंद कराने के आदेश दिए हैं. भदोही के गांव में हुए अग्निकांड के बाद यह फैसला लिया गया है. हादसे में पांच लोगों की जान जा चुकी है. मामले की जांच के लिए एसआईटी गठित की है. रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.

X
दुर्गा पूजा पंडाल का गुफानुमा स्ट्रक्चर
दुर्गा पूजा पंडाल का गुफानुमा स्ट्रक्चर

भदोही के औराई कस्बे के नरथुआ गांव में दुर्गा पूजा-पंडाल में हुए भीषण अग्निकांड के बाद पुलिस ने कड़ा फैसला किया है. सभी पूजा-पंडालों में बनाए गए गुफानुमा स्ट्रक्चर को वाराणसी पुलिस कमिश्नरेट ने पूरी तरह से प्रतिबंधित कर दिया है. कहा जा रहा है कि ऐसे ही गुफानुमा स्ट्रक्टर के चलते भदोही हादसे में ज्यादा लोग आग की चपेट में आए थे.

मौके पर पहुंची आजतक की टीम ने हादसे की जमीनी हकीकत जानी. साथ ही पूजा समिति के लोगों से भी इस कार्रवाई पर सवाल किया.

जांच करने पहुंचे काशी जोन के डीएसपी आरएस गौतम ने कहा, "पंडालों में फायर फाइटिंग उपकरण नहीं मिले. जब तक पूजा समिति इसका इंतजाम कर लेगी, तब तक गुफा चालू रखने की अनुमति नहीं मिलेगी. पहले सुरक्षा इंतजाम किए जाएं उसके बाद अनुमति देंगे." 

इस कदम का समर्थन पूजा समिति के लोगों ने भी किया है. उन्होंने यह भी कहा कि पूजा-पंडालों के संबंध में एक महीने पहले से बैठक करके समझाया जा रहा था. कमिश्नरेट के आदेश पर वाराणसी के सभी पूजा-पंडालों में बनी गुफाओं को बंद कराया जा रहा है.

अमरनाथ और माता वैष्णो देवी की तर्ज पर बने हैं स्ट्रक्चर

नरथुआ गांव में दुर्गा पूजा पंडाल में भी माता वैष्णो देवी की तर्ज पर गुफा बनाई गई थी. इसे बनाने के लिए पीओपी और बोरे का उपयोग किया गया था. जब आग लगी तो लोगों को भागने का मौका ही नहीं मिल पाया.

भीषण आग की चपेट में आने से पांच लोगों की मौत हो चुकी है. इसके अलावा पांच दर्जन से ज्यादा लोगों का इलाज अस्पताल में किया जा रहा है. ऐसे ही स्ट्रक्चर दूसरे पूजा-पंडालों में भी बनाए गए हैं, जिन्हें अब बंद कराया जा रहा है. 

हमारे यहां हैं पूरे सुरक्षा इंतजाम

बुलानाला इलाके के एसबी दुर्गोत्सव समिति के कोषाध्यक्ष लखन शर्मा ने दावा किया कि सुरक्षा उपकरण पूरी तरह से पुख्ता हैं और उसमें किसी तरह की खामी नहीं है. हम पुलिस के बताए हुए रास्ते पर चलते हुए कार्रवाई का समर्थन कर रहें है. हमने अपने पूजा पंडाल में गुफा में प्रवेश रोक दिया है.

यह है पूरा मामला

नरथुआ गांव में औराई कोतवाली से 100 मीटर की दूरी पर बने पूजा-पंडाल में रविवार रात नौ बजे कार्यक्रम के दौरान आग लग गई थी. खुद को बचाने के लिए लोग एक-दूसरे पर चढ़ते हुए भागने लगे थे. इस हादसे में अभी तक पांच लोगों की मौत हो चुकी है.

मरने वालों में महिला और बच्चे शामिल हैं. 60 से अधिक लोग घायल हैं, जिनका इलाज जारी है. अग्निकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया गया है. रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें