scorecardresearch
 

UP: कान में ब्लूटूथ, गले के पास माइक...लेखपाल परीक्षा में कैसे हो रही थी नकल? देखें Video

उत्तर प्रदेश में हुई लेखपाल भर्ती परीक्षा में ब्लूटूथ डिवाइस के जरिए सॉल्वर गैंग नकल करवा रहा था. यूपी एसटीएफ ने इस मामले में 21 लोगों को गिरफ्तार किया है. नकल करने के लिए खास डिवाइस का इस्तेमाल किया जा रहा था. एसटीएफ ने इस डिवाइस के बारे में एक सॉल्वर से पूरी जानकारी ली है.

X
ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर दे रहे थे परीक्षा. ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर दे रहे थे परीक्षा.
1:04
स्टोरी हाइलाइट्स
  • एसटीएफ ने पूरे राज्य में की धरपकड़
  • 21 सॉल्वर अब तक हुए गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश में एसटीएफ ने राजस्व लेखपाल भर्ती परीक्षा में गड़बड़ी फैलाने वाले सॉल्वर गैंग के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है. एसटीएफ ने आज राज्य के अलग-अलग जिलों में सॉल्वर गैंग के लोगों की धरपकड़ की है. इस मामले में अब तक एसटीएफ ने 21 लोगों को अरेस्ट किया है. वहीं कानों में ब्लूटूथ लगाकर लेखपाल परीक्षा दिए जाने का वीडियो भी सामने आया है. इस पूरे मामले को लेकर जांच की जा रही है.

आज यूपी में हुई लेखपाल भर्ती परीक्षा में सॉल्वर गैंग की धरपकड़ के लिए यूपी एसटीएफ ने कई जगह छापेमारी की है. एसटीएफ की मेरठ यूनिट ने बागपत के छपरौली में छापेमारी की. वहीं प्रयागराज यूनिट ने 10 लाख में ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर परीक्षा पास कराने वाले 7 लोगों को गिरफ्तार किया है.

यहां देखें वीडियो

वाराणसी के चेतगंज इलाके से भी सॉल्वर गैंग के सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. इसके अलावा बरेली में भी दूसरे की जगह परीक्षा दे रहा सॉल्वर पकड़ा गया है. राजधानी लखनऊ से सॉल्वर गैंग के दो लोग गिरफ्तार हुए हैं. सॉल्वर गैंग की धरपकड़ के लिए प्रयागराज और कानपुर में भी एसटीएफ ने छापेमारी की है. पेपर लीकेज के सबूत अभी तक नहीं मिले हैं.

सॉल्वर ब्लूटूथ डिवाइस लगाकर परीक्षा दे रहे थे. एसटीएफ ने प्रयागराज से नरेंद्र कुमार पटेल और संदीप पटेल को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए सभी सॉल्वरों के पास से ब्लूटूथ डिवाइस बरामद किए गए हैं. एसटीएफ ने कानपुर के नवाबगंज से गिरफ्तार किए गए करण कुमार से नकल की पूरी कहानी समझी है.

करण प्रयागराज के मौमैमा के रहने वाला है. उसे नवाबगंज के डीपीएस इंटर कॉलेज से पकड़ा गया है. पूछताछ के दौरान करण ने एसटीएफ को बताया कि उसे एक ब्लूटूथ डिवाइस दिया गया था. यह डिवाइस इतना छोटा था कि कान में लगाने के बाद नजर नहीं आता था. डिवाइस का माइक एटीएम कार्ड जैसी चिप में लगा था. इस कार्ड को बनियान में गले के नीचे रखा गया था. 

करण ने बताया कि परीक्षा शुरू होते ही प्रत्येक प्रश्न को धीरे-धीरे पढ़ रहा था. एक सॉल्वर केंद्र के बाहर था, जो सवाल सुनने के बाद सवालों के उत्तर दे रहा था. एसटीएफ ने उस सॉल्वर को भी पकड़ने की कोशिश की, जिसने पेपर हल करने में मदद की. हालांकि वह फरार हो गया. एसटीएफ उसकी तलाश कर रही है. कानपुर के गोविंद नगर थाना क्षेत्र के माया देवी इंटर कॉलेज में एसटीएफ की टीम ने ब्लूटूथ डिवाइस से नकल करते एक अभ्यर्थी को पकड़ा है.

वहीं प्रयागराज के फूलपुर शाहपुर निवासी दयाशंकर पुत्र जय सिंह पटेल प्राइवेट टीचर है. लेखपाल की परीक्षा में कई बार फेल होने के बाद उसने सॉल्वर गैंग के एक सदस्य से संपर्क किया. गैंग के सदस्य ने पेपर से तीन दिन पहले उसे डिवाइस उपलब्ध करा दी. कानपुर एसटीएफ ने छापेमारी कर जय सिंह पटेल को डिवाइस के साथ पकड़ लिया. जय सिंह ने बताया कि उसे सॉल्वर का नाम नहीं पता है. उससे सिर्फ वॉट्सएप कॉलिंग पर बात की है.

एडीशनल डीसीपी क्राइम मनीष सोनकर ने कहा कि एसटीएफ की मदद से कानपुर पुलिस ने लेखपाल परीक्षा में नकल के लिए ब्लूटूथ और माइक डिवाइस का इस्तेमाल कर रहे दो लोगों को रंगेहाथ पकड़ लिया. इनकी एक सॉल्वर ने मदद की थी. मामला दर्ज होने के बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें