scorecardresearch
 

बड़ी साजिश की फिराक में थे दोनों चीनी नागरिक, नोएडा पुलिस को मिला खुफिया इनपुट

13 जून को बॉर्डर से दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस के मुताबिक, भारत में नेपाल बॉर्डर के रास्ते आए दो चीनी घुसपैठियों को नोएडा में पनाह दी गई थी.

X
बिहार के सीतामढ़ी में दोनों चीनी नागरिकों को पकड़ा गया था. बिहार के सीतामढ़ी में दोनों चीनी नागरिकों को पकड़ा गया था.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ग्रेटर नोएडा पुलिस ने चाइनीस क्लब पर छापा मारा और जांच की
  • पुलिस फ्लैट पर भी पहुंची, वहां 15 दिन तक रुके रहे दोनों आरोपी

इंडो-नेपाल बॉर्डर से पकड़े गए दो चाइनीज के मामले में नई जानकारियां सामने आ रही हैं. अब नोएडा पुलिस को दोनों चाइनीज युवकों की कुछ संदिग्ध गतिविधियों को लेकर इनपुट मिला है. इसके बाद बुधवार को ग्रेटर नोएडा पुलिस ने उस फ्लैट पर छापा मारा, जहां ये दोनों युवक 15 दिन रुके रहे. पुलिस यहां जांच कर रही है.

इससे पहले पुलिस ने दोनों चाइनीज युवकों को नोएडा में पनाह देने वाले युवक और युवती को गुरुग्राम से गिरफ्तार किया था. पुलिस का कहना है कि चाइनीज युवकों के कनेक्शन खंगाले जा रहे हैं. बुधवार को ग्रेटर नोएडा के थाना इकोटेक की पुलिस और आलाधिकरियों ने घड़बड़ा में स्थित चाइनीस क्लब में छापा मारा. 

चाइनीज युवकों के बारे में मिला बड़ा इनपुट

इसके अलावा, युवक-युवती के फ्लैट की भी जांच की जा रही है. स्थानीय पुलिस का कहना है कि क्लब में लगातार जांच की जा रही है. पुलिस को दोनों चाइनीज युवकों के संबंध में एक बड़ा इनपुट मिला है.

नोएडा में 15 दिन तक रुके रहे चीनी नागरिक

बता दें कि 13 जून को बॉर्डर से दो चीनी नागरिकों को गिरफ्तार किया गया था. पुलिस के मुताबिक, भारत में नेपाल बॉर्डर के रास्ते आए दो चीनी घुसपैठियों को नोएडा में पनाह दी गई थी. चीनी नागरिक को पनाह देने वाले सूफई केले को उसकी प्रेमिका पेटेकह के साथ गिरफ्तार किया गया था. 

पनाह देने वाले दोस्त का वीजा हो गया एक्सपायर

पुलिस जांच में सामने आया कि चीनी नागरिक सूफई केले का वीजा 2020 में एक्सपायर हो गया था. वह ग्रेटर नोएडा के जेपी ग्रीन्स में 2019 से रह रहा था. सूफई केले की उम्र करीब 36 साल है. जबकि इसकी प्रेमिका की उम्र 22 साल है. गिरफ्त में आये चीनी नागरिक मोबाइल्स पार्ट्स पर पीवीसी चढ़ाने की कंपनी चलाता था. 

वीजा नहीं, फिर भी बेखौफ घूमता था सूफई

सूफई केले गाजियाबाद और नोएडा में 2 कंपनिया चलाता था. इसी ने भारत-नेपाल बॉर्डर पर पकड़े गए दोनों नागरिकों को अपने ही फ्लैट पर पनाह दी थी. बताया जा रहा है कि चीनी बीजा एक्सपायर होने के बावजूद बेखौफ सूफई रोजाना गोल्फ खेलने जाया करता था. सूफई मूल रूप से बुहान का रहने वाला है.

ग्रेटर नोएडा की गीन्स सोसायटी में रहता था सूफई

दरअसल, बीते शनिवार को बिहार की सीतामढ़ी पुलिस के एसएसबी जवानों ने दो चीनी नागरिकों को बॉर्डर पार करने की कोशिश करते समय गिरफ्तार किया था. पूछताछ में उन्होंने बताया कि वो ग्रेटर नोएडा जेपी ग्रीन्स सोसाइटी में अपने चीनी मित्र के यहां 15 दिन तक रुके थे. जानकारी मिलने के बाद आरोपी चीनी युवक और उसकी महिला मित्र को गुरुग्राम के एक होटल से गिरफ्तार किया गया था. उनका वीजा एक्सपायर हो गया था. पुलिस ने केस दर्ज कर लिया गया था. अन्य एजेंसियां उनसे पूछताछ कर रही हैं.

पुलिस ने कहा- इनपुट मिला है, जांच कर रहे हैं

ग्रेटर नोएडा के एडिशनल डीसीपी विशाल पांडेय ने बताया कि सुरक्षा एजेंसियों को इनपुट मिला है कि ये चीनी नागरिक देश में कुछ संदिग्ध गतिविधियों को अंजाम देने की फिराक में थे. इसी संबंध में जांच के लिए बुधवार को ग्रेटर नोएडा के थाना इकोटेक-1 पुलिस और स्पेशल सेल की टीम उस फ्लैट पर पहुंची, जहां ये नागरिक रुके थे. इसी थाना क्षेत्र के घड़बड़ा में चाइनीज क्लब है, वहां भी जांच की जा रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें