scorecardresearch
 

पुलवामा में UP के 12 लाल शहीद: योगी का 25 लाख, एक शख्स को नौकरी देने का ऐलान

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलवामा में सूबे के शहीदों के प्रति परिवार को 25-25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी का ऐलान किया गया है. इसके अलावा जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नाम उनके नाम पर रखे जाने की बात कही गई है.

आतंकी हमले में शहीद महराजगंज के रहने वाले पंकज त्रिपाठी का परिवार दुखी (ANI) आतंकी हमले में शहीद महराजगंज के रहने वाले पंकज त्रिपाठी का परिवार दुखी (ANI)

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में सीआरपीएफ के अब तक 37 जवान शहीद हो चुके हैं और कई घायल हैं. देश की शान और मान के लिए अपनी जान न्योछावर करने वाले 37 शहीद जवानों में से 12 उत्तर प्रदेश के लाल हैं.

 उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीदों के प्रति परिवार को 25-25 लाख रुपये की आर्थिक मदद और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी का ऐलान किया गया है. इसके अलावा जवानों के पैतृक गांव के संपर्क मार्ग का नाम उनके नाम पर रखे जाने की बात कही गई है.

योगी सरकार ने फैसला किया है कि पुलवामा में शहीद हुए जवानों का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा, जिसमें प्रदेश सरकार के एक मंत्री, डीएम और एसपी राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में मौजूद रहेंगे.

 पुलवामा में गुरुवार को हुए आतंकी हमले में सबसे ज्यादा शहीद उत्तर प्रदेश के सपूत हुए हैं. उत्तर प्रदेश के प्रधान सचिव गृह अरविंद कुमार ने सूबे के 12 शहीदों के आंकड़ों की पुष्टि की है. इनमें चंदौली के शहीद अवधेश कुमार, इलाहाबाद के शहीद महेश कुमार, शामली के शहीद प्रदीप, वाराणसी के शहीद रमेश यादव, आगरा के शहीद कौशल कुमार यादव, उन्नाव के शहीद अजीत कुमार, कानपुर देहात के शहीद श्याम बाबू और कन्नौज के शहीद प्रदीप सिंह शामिल हैं.

पुलवामा में शहीद होने की सूचना जैसे ही सूबे के जवानों के घरों तक पहुंची, उनके गांव में कोहराम मच गया. जिलों के प्रशासनिक अफसरों ने भी शहीदों के परिवारों के बीच पहुंचकर ढांढस बंधाने का काम किया. सूबे के लोगों में आतंकियों के इस कायराना हरकत को लेकर काफी आक्रोश नजर आ रहा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें