scorecardresearch
 

मायावती बोलीं- हाथरस पीड़ितों से मिलने वाले कांग्रेस नेता पुजारी की हत्या पर खामोश

मायावती ने ट्वीट किया, यूपी की तरह राजस्थान प्रदेश में भी कांग्रेसी राज में वहां हर प्रकार के अपराध और उनमें खासकर निर्दोषों की हत्या, दलित एवं महिलाओं का उत्पीड़न आदि चरम सीमा पर है. अर्थात वहां भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है.

X
बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधा बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मायावती ने करौली की घटना पर कांग्रेस को घेरा
  • यूपी की तरह राजस्थान में भी कानून व्यवस्था खराब
  • हाथरस की पीड़िता से मिलना राजनीति-मायावती

राजस्थान में करौली जिले के बूकना गांव में मंदिर के पुजारी बाबूलाल वैष्णव को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व सीएम और बसपा प्रमुख मायावती ने कांग्रेस पर निशाना साधा है. मायावती ने कहा कि हाथरस में पीड़िता से मिलने वाले कांग्रेस के नेता राजस्थान की घटना पर शांत हैं. 

मायावती ने ट्वीट किया, यूपी की तरह राजस्थान प्रदेश में भी कांग्रेसी राज में वहां हर प्रकार के अपराध और उनमें खासकर निर्दोषों की हत्या, दलित एवं महिलाओं का उत्पीड़न आदि चरम सीमा पर है. अर्थात वहां भी कानून का नहीं बल्कि जंगलराज चल रहा है. अति- शर्मनाक और अति-चिंताजनक है. 

मायावती ने कहा, राजस्थान में कांग्रेसी नेता अपनी सरकार पर शिकंजा कसने की बजाय खामोश हैं. इससे यह लगता है कि यूपी में अभी तक जिन भी पीड़ितों से ये मिले हैं तो यह केवल इनकी वोट की राजनीति है और कुछ भी नहीं. जनता ऐसी ड्रामेबाजियों से सर्तक रहे, बीएसपी की यह सलाह है.

 

करौली की घटना को लेकर यूपी सरकार के मंत्रियों ने भी कांग्रेस पर हमला बोला है. कहा कि क्या राहुल या प्रियंका गांधी करौली भी जाएंगे? हाथरस कांड के बाद हाथरस पहुंचे राहुल और प्रियंका गांधी को लेकर मंत्रियों ने तंज कसा और कहा कि क्या वे करौली भी जाएंगे. सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह ने ट्वीट किया, "राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा करौली (राजस्थान) जा रहे हैं? किसी ने सुना तो जरूर बताना."

वहीं उत्तर प्रदेश में अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री मोहसिन रजा ने आरोप लगाया कि राहुल और प्रियंका गांधी राजनीति करने हाथरस आ गए थे. वे कांग्रेस की सरकार वाले राज्यों में साधु-संतों की हत्या पर खामोश क्यों हैं?

क्या है मामला

बता दें कि राजस्थान में मंदिर के जमीन विवाद में एक पुजारी को जलाकर मारने का सनसनीखेज मामला सामने आया था. राजस्थान के करौली जिले के बुकना गांव में मंदिर की जमीन विवाद में कुछ लोगों ने पुजारी को जिंदा जला दिया था. गंभीर रूप से जख्मी पुजारी को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां गुरुवार रात को इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें