scorecardresearch
 

करौली पुजारी हत्याकांड: 10 लाख के मुआवजे से पुजारी की हत्या माफ?

करौली पुजारी हत्याकांड: 10 लाख के मुआवजे से पुजारी की हत्या माफ?

क्या राजनीति की कोई जाति होती है? यह जाति वह है कि आप प्रतिक्रिया तब दें जब अपराध आपके नहीं किसी और के शासन में हुआ हो. राजनीति की जाति यह होती है कि आप अपराध को छोटा या बड़ा बताएं. राजनीति की जाति यह होती है कि आप अपराधी की जाति देखते हुए रिएक्ट करें. चाहे मामला दिल्ली का हो, या फिर यूपी का हाथरस हो, या या राजस्थान की करौली का हो. सियासत ही जाति आधारित है. करौली में 15 बीघा जमीन की रक्षा करते हुए एक पुजारी को बदमाशों ने मार डाला, उन्हें जिंदा जला दिया. कांग्रेस को अब कुछ नहीं सूझ रहा है, जिसने हाथरस कांड पर सियासी टूरिज्म का दौर ही यूपी में शुरू कर दिया. देखिए बेहद खास कार्यक्रम, श्वेता सिंह के साथ.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें