scorecardresearch
 

Kanpur Violence: राम जानकी मंदिर की जमीन पर बाबा बिरयानी! पुलिस ने दर्ज किया केस

कानपुर के मशहूर बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा पर पुलिस ने राम जानकी मंदिर पर कब्जा कर वहां बाबा बिरयानी होटल बनाने के आरोप में एक और मामला दर्ज किया है. अब तक मुख्तार बाबा के खिलाफ कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई है.

X
 मशहूर बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा मशहूर बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्तार बाबा पर अब तक तीन केस दर्ज
  • हिंसा के मुख्य आरोपी को फंड देने का आरोप

कानपुर हिंसा के मुख्य आरोपी जफर हाशमी को फंडिंग करने के आरोप में गिरफ्तार मशहूर बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा पर शिकंजा कसता जा रहा है. अब उन पर राम जानकी मंदिर की जमीन पर बिरयानी की दुकान बनाने का आरोप लगा है. इस आरोप में बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

कानपुर कमिश्नरेट पुलिस ने बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा के खिलाफ दो और प्राथमिकी दर्ज की है. पुलिस ने राम जानकी मंदिर पर कब्जा कर वहां बाबा बिरयानी होटल बनाने के आरोप में एक और मामला दर्ज किया है. अब तक मुख्तार बाबा के खिलाफ कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई है और उनपर शिकंजा कसता जा रहा है.

बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा पर चमनगंज थाने में दो और बजरिया थाने में एक प्राथमिकी दर्ज की गयी है. मुख्तार बाबा, पाकिस्तानी नागरिक आबिद रहमान समेत 14 लोगों को आरोपी बनाया गया है. इसके अलावा एक केस में मुख्तार बाबा की मां समेत परिजनों पर जमीन कब्जाने, धोखाधड़ी समेत कई गंभीर मामले दर्ज किए गए हैं.

कौन हैं मुख्तार बाबा?

एक दौर था कि मशहूर बाबा बिरयानी के मालिक मुख्तार बाबा अपने पिता के साथ साइकिल के पंक्चर ठीक करते थे, लेकिन आज वह करोड़ों रुपये की संपत्ति के मालिक हैं. साल 1968 में मुख्तार बाबा के पिता मोहम्मद इरशाद अहमद उर्फ ​​बाबा बेकनगंज के राम जानकी मंदिर की जमीन पर साइकिल पंचर बनाते थे.

मुख्तार बाबा भी अपने पिता के साथ काम करते थे. इसके बाद उन्होंने बिस्कुट, बंद और मिठाई की एक छोटी सी दुकान खोली. 1992 के दंगों के बाद मुख्तार बाबा ने खूब कमाई की. पुलिस के मुताबिक, मुख्तार ने डी2 गैंग के गुर्गों की मदद से कई संपत्तियां भी खाली करायी थीं, कागजातों में हेराफेरी कर उन्होंने बेकनगंज में एक मंदिर की जमीन पर बाबा स्वीट्स के नाम से होटल खोल दिया.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें