scorecardresearch
 

ग्रेटर नोएडा का होगा कायाकल्प, प्राधिकरण तैयार करवा रहा है मास्टर प्लान 2041

फिलहाल ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का मास्टर प्लान-2021 लागू है. लेकिन मास्टर प्लान-2041 में आधुनिक ग्रेटर नोएडा की झलक दिखाई देगी. इसमें आईटी हब, हाइटेक रेसिडेंसियल एरिया, औद्योगिक विकास और ग्रामीण क्षेत्र के विकास की रूपरेखा और खाका खींचा जाएगा.

प्रतीकात्मक तस्वीर प्रतीकात्मक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मास्टर प्लान 2041 में अत्याधुनिक विकास पर जोर
  • रुद्राभिषेक इंटरप्राइजेज लिमिटेड को बनाया सलाहकार
  • प्राधिकरण के सीईओ ने की समीक्षा बैठक

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने 2041 के मास्टर प्लान के लिए रुद्राभिषेक इंटरप्राइजेज लिमिटेड को सलाहकार नियुक्त किया है. ये कंपनी ग्रेटर नोएडा के फेज-1 तथा फेज-2 क्षेत्र का सर्वे, परीक्षण, आधारभूत सुविधाएं, परिवहन जैसे बिंदुओं को शामिल करेगी. तय वक्त के मुताबिक आने वाले 6 महीने में कंपनी प्राथमिक रिपोर्ट सौंपेगी. फिलहाल ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण का मास्टर प्लान-2021 लागू है. इस मास्टर प्लान में आधुनिक ग्रेटर नोएडा की झलक दिखाई देगी. इसमें आईटी हब, हाइटेक रेसिडेंसियल एरिया, औद्योगिक विकास और ग्रामीण क्षेत्र के विकास की रूपरेखा और खाका खींचा जाएगा.

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया है कि इस मास्टर प्लान को तैयार करने के लिए रुद्राभिषेक इंटरप्राइजेज लिमिटेड को सलाहकार नियुक्त कर दिया गया है, ये कंपनी ग्रेटर नोएडा फेस-1, फेस-2 का सर्वे कर आधारभूत सुविधाएं परिवहन ट्रैफिक की रिपोर्ट 6 महीने में पेश करेगी. कंपनी पूरी रिपोर्ट एक साल में तैयार करेगी और प्राधिकरण को सौंपेगी.

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के सीईओ नरेंद्र भूषण ने इस संबंध में समीक्षा बैठक की थी. इसमें एसीईओ अमनदीप डुली, ओएसडी संतोष कुमार, जीएम वित्त एचपी वर्मा, जीएम परियोजना एके अरोड़ा, जीएम नियोजन मीना भार्गव व स्कूल ऑफ प्लानिंग एवं आर्किटेक्चर के पूर्व निदेशक प्रो जमाल अन्सारी शामिल हुए. बैठक में सलाहकार कंपनी ने मास्टर प्लान को लेकर विस्तृत प्रेजेंटेशन भी दिया था. सीईओ नरेंद्र भूषण ने बताया कि स्कूल ऑफ प्लॉनिंग एवं आर्किटेक्चर, नई दिल्ली के पूर्व निदेशक प्रो जमाल अंसारी सलाहकार कंपनी को सुझाव और मार्गदर्शन देते रहेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें