scorecardresearch
 

लखनऊः संपत्ति पर कब्जा करने में मुख्तार अंसारी और दोनों बेटों पर केस दर्ज

मुख्तार अंसारी और उसके दो बेटों के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गई है. जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल की तरफ से एफआईआर दर्ज करवाई गई है.

माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के खिलाफ केस दर्ज माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के खिलाफ केस दर्ज
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों पर भी केस दर्ज
  • हेरा-फेरी कर जमीने कब्जाने का है आरोप
  • लखनऊ में डालीगंज स्थित बिल्डिंग गिराई

बिल्डिंग गिराये जाने के बाद माफिया डॉन मुख्तार अंसारी और उसके दोनों बेटों उमर और अब्बास अंसारी के खिलाफ लखनऊ में जिला प्रशासन ने केस दर्ज कराया है. बिल्डिंग को गिराने में लगने वाले खर्च की प्रशासन वसूली करेगा. साथ ही अभिलेखों की टेंपरिंग की जांच के बाद कार्रवाई होगी. 

मुख्तार अंसारी और उसके दो बेटों के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गई है. जियामऊ के लेखपाल सुरजन लाल की तरफ से एफआईआर दर्ज करवाई गई है. 

मुख्तार अंसारी पर लखनऊ के डालीबाग स्थित शत्रु/निष्करांत संपत्ति पर हेरा फेरी कर कब्जा करने का आरोप है. दस्तावेजों की जांच के बाद कब्जा की गई जमीन को निषक्रांत संपत्ति के रूप में दर्ज किया गया है. जमीनों की खतौनी गायब कर निष्करांत संपत्ति पर मुख्तार अंसारी और लड़कों द्वारा कब्जा करने के आरोप को लेकर एफआईआर दर्ज की गई है.

मुख्तार अंसारी, उमर अंसारी और अब्बास अंसारी पर धोखाधड़ी, जालसाजी, फर्जी दस्तावेज तैयार करने की एफआईआर दर्ज की गई है. 

असल में, लखनऊ के जियामऊ इलाके में मुख्तार अंसारी के बेटे उमर और अब्बास की दो मंजिला इमारत बनी हुई थी. आरोप है कि यह इमारत तकरीबन 8000 स्क्वॉयर फुट में अवैध तरीके से बनाई गई थी. लखनऊ विकास प्राधिकरण के शिवाकांत ओझा ने बताया कि ये शत्रु/निष्करांत संपत्ति थी और जिसका मुकदमा एलडीए में चल रहा था. इस बिल्डिंग को लखनऊ प्रशासन और लखनऊ डेवलपमेंट अथॉरिटी (एलडीए) ने गिरा दी है.


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें