scorecardresearch
 

साधु ने खजाने का सपना देखा, केंद्रीय मंत्री ने खुदाई के लिए भेजी टीम

 एक साधु के सपने के आधार पर भारतीय पुरातत्व विभाग एक खजाने की तलाश में खुदाई करवाने वाला है. साधु ने इस बारे में केंद्रीय मंत्री चरण दास महंत को भी भरोसे में लिया है कि खजाना सामने आने से देश पर समस्याओं का बोझ कुछ हल्का हो जाएगा.

X
1000 टन सोना होने का दावा 1000 टन सोना होने का दावा

 एक साधु के सपने के आधार पर भारतीय पुरातत्व विभाग एक खजाने की तलाश में खुदाई करवाने वाला है. साधु ने इस बारे में केंद्रीय मंत्री चरण दास महंत को भी भरोसे में लिया है कि खजाना सामने आने से देश पर समस्याओं का बोझ कुछ हल्का हो जाएगा.

1000 टन सोना!
घटना उत्तर प्रदेश के उन्नाव की है. साधु शोभन सरकार का दावा है कि खजाने में 1000 टन सोना है. अंग्रेजी अखबार 'इंडियन एक्सप्रेस' में छपी खबर के मुताबिक, साधु का दावा है कि सपने में उन्हें राजा राव रामबख्श सिंह दिखाई दिए और उन्होंने उन्नाव के गांव डौंडिया खेड़ा स्थित किले के खंडहर में दबा खजाना निकाल देने को कहा.

साधु ने स्थानीय प्रशासन राज्य और केंद्र सरकार को इस बारे में सूचित कर दिया.

अनुयायिओं वाले साधु हैं
साधु शोभन सरकार इलाके के मशहूर साधुओं में हैं. उनके काफी अनुयायी भी हैं. उनके एक शिष्य स्वामी ओम ने बताया, 'शुरू में लोगों ने मजाक समझा. शोभन सरकार चिंतित भी थे क्योंकि उन्होंने सुना था कि सरकार मंदिरों के खजाने को हड़पने की तैयारी में थी. फिर उन्होंने मुझसे सरकार तक यह सूचना पहुंचाने को कहा.'

उन्होंने बताया, 'हम भाग्यशाली रहे कि केंद्रीय मंत्री चरण दास महंत ने इसे गंभीरता से लिया. वह शोभन सरकार से मिले और किले का दौरा भी किया. इसके बाद पुरातत्व विभाग और भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण की टीमें इस पर काम कर रही हैं.'

सोनिया के कहने पर झाड़ू लगाने को तैयार थे मंत्री जी

छत्तीसगढ़ के रहने वाले चरणदास महंत वही मंत्री हैं जिन्होंने कुछ महीने पहले अपनी वफादारी का प्रदर्शन करते हुए कहा था कि सोनिया गांधी के कहने पर वह झाड़ू लगाने को भी तैयार हैं. उनके पास कृषि और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग विभाग है. 22 सितंबर और 7 अक्टूबर को उन्होंने कथित खजाने वाले किले का दौरा किया था.

चरणदास महंत का कहना है कि उन्हें खजाने के बारे में कानपुर के एक 'पंडितजी' ने बताया जो उनके पास अकसर आते रहते हैं.

मंत्री ने बताया, 'उन्होंने (पंडित ने) बताया कि शोभन सरकार मुझसे मिलना चाहते हैं. मैं उनसे जाकर मिला. उन्होंने बताया कि खजाना इतना बड़ा है कि अगर सरकार इसे निकाल ले तो रुपये की बदहाली के दौर में यह देश के बहुत काम आ सकता है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें