scorecardresearch
 

बाथरूम में बच्‍चे को जन्‍म देने से पहले तक महिला को पता ही नहीं था कि वह गर्भवती है

एक महिला गर्भवती थी, लेकिन उसे इस बात का बिलकुल भी अंदाजा नहीं था और उसने आधी रात को बाथरूम के फर्श पर बच्‍चे को जन्‍म दिया, जबकि उसका पार्टनर सोता रहा.

X
अपनी बच्‍ची पॉपी के साथ नाडिया वॉटसन
अपनी बच्‍ची पॉपी के साथ नाडिया वॉटसन

एक महिला गर्भवती थी, लेकिन उसे इस बात का बिलकुल भी अंदाजा नहीं था और उसने आधी रात को बाथरूम के फर्श पर बच्‍चे को जन्‍म दिया, जबकि उसका पार्टनर सोता रहा.

घटना इंग्‍लैंड की काउंटी समरसेट की है. यहां रहने वाली 22 वर्षीय नाडिया वॉटसन को अचानक पेट में दर्द होने लगा. उसे लगा कि यह पीरियड्स का दर्द है, लेकिन वह जमीन पर गिर गई. उसे यह पता ही नहीं था कि उसे लेबर पेन हो रहा है.

वह एक घंटे तक चिल्‍लाती रही और इस दौरान उसने एक बच्‍चे को जन्‍म दिया. लेकिन उसका ब्‍वॉयफ्रेंड लुईस मेक्‍स्‍वीनी सोता रहा. वह इतनी जोर-जोर से चिल्‍ला रही थी कि उसके पड़ोसियों ने इमरजेंसी नंबर तक डायल कर दिया.

बच्‍चे के जन्‍म के चंद मिनटों बाद नाडिया के घर के बाहर पुलिस की गाड़ियों और एम्‍बुलेंस की कतार लग गई. लुईस की आंखें तब खुली जब नाडिया ने उसे बच्‍ची को दिखाया.

नाडिया के मुताबिक, 'बच्‍चे को जन्‍म देने के बाद मैं बेडरूम में गई और लुईस को बच्‍ची दिखाई, लेकिन वह फिर सो गया. मैंने उसे फिर उठाया और तब जाकर उसे एहसास हुआ कि क्‍या हो गया है. वह पूरी तरह से हैरान था.'

नाडिया को कभी पता ही नहीं चला कि वह गर्भवती है और उसके पेट में एक नन्‍ही जान पल रही है. इस दौरान उसका वजन बहुत कम बढ़ा. वह एक साथ दो-दो नौकरियां भी करती रही. यहां तक कि वह शॉपिंग में अपनी गर्भवती पड़ोसी की मदद भी करती थी.{mospagebreak}

उन्‍होंने कहा, 'यह पूरी तरह से हैरान कर देने वाली बात थी. मुझे जरा भी अंदाजा नहीं था कि मैं प्रेग्‍नेंट हूं. मुझे लगातार पीरियड्स भी हो रहे थे. मेरा वजन भी ज्‍यादा नहीं बढ़ा. मुझे लगा कि जो वजन बढ़ रहा है वह ज्‍यादा बर्गर खाने की वजह से है.'

'रविवार रात मुझे तेज दर्द हो रहा था और मुझे लगा कि पीरियड शुरू होने वाले हैं. मैं बाथरूम गई, लेकिन दर्द के मारे वहीं फर्श पर गिर गई. मुझे आभास हुआ कि मुझे लेबर पेन हो रहे हैं और मैंने पुश करने का फैसला किया. डिलिवरी के वक्‍त ज्‍यादातर लोगों के आसपास काफी लोग होते हैं, जो उन्‍हें बताते रहते हैं कि क्‍या करना है और कब करना है, लेकिन मेरे पास कोई नहीं था.'

'लुईस को पता ही नहीं चला कि क्‍या हो रहा है और वह पूरी रात सोता रहा, लेकिन शोर मचाकर मैं पड़ोसियों को जगाने में कामयाब रही. मैं इतनी जोर से चिल्‍ला रही थी कि उन्‍होंने इमरजेंसी नंबर डायल कर दिया. जब तक लुईस जागा तब तक एम्‍बुलेंस के साथ पुलिस की गाड़ियां पहुंच चुकी थीं. वे हम दोनों को अस्‍पताल ले गए.'

लुईस का कहना है कि वह इस बात पर बेहद शर्मिंदा है कि उस रात इतना कुछ हुआ, लेकिन उसे पता नहीं चला और वह सोता रहा. उसने कहा, 'मैं 12 घंटे की शिफ्ट खत्‍म करके आया था और बहुत थका हुआ था. मुझे बस इतना याद है कि नाडिया बच्‍ची को लेकर कमरे में आई थी, लेकिन तब मुझे लगा कि मैं सपना देख रहा हूं और फिर सो गया. कुछ देर बाद मेरे दिमाग की घंटी बजी और फिर मुझे एहसास हुआ कि क्‍या हुआ है. मैं कई दिनों तक सदमे में रहा. मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि क्‍या हो गया.'

नाडिया ने अपनी बच्‍ची का नाम पॉपी रखा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें