scorecardresearch
 

... तो यह है मोदी और बीजेपी का गेम प्लान

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को बीजेपी ने अगले लोकसभा चुनाव के लिए अपना कमांडर बना दिया है. अब हर किसी के मन में एक ही सवाल है कि आखिर मोदी के 'मिशन 2014' को लेकर क्या है पार्टी की योजना?

नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह नरेंद्र मोदी और राजनाथ सिंह

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को बीजेपी ने अगले लोकसभा चुनाव के लिए अपना कमांडर बना दिया है. अब हर किसी के मन में एक ही सवाल है कि आखिर मोदी के 'मिशन 2014' को लेकर क्या है पार्टी की योजना? मोदी ऐसा क्या करेंगे जिससे केंद्र में पिछले 9 साल से सत्ता से दूर रहने वाली उनकी पार्टी की किस्मत बदल जाएगी?

सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि मोदी की ताजपोशी के साथ पार्टी ने उनकी चुनाव प्रचार की योजना तैयार कर ली है. जिस पर अगले कुछ दिनों में अमल होने लगेगा.

नरेंद्र मोदी और बीजेपी का मिशन 2014
1. पार्टी ने एक व्यापक चुनाव अभियान का ब्यौरा तैयार कर लिया है. अगले कुछ दिनों में इस पर अमल किया जाएगा.
2. 17 जून को दिल्ली में बीजेपी की अहम बैठक होगी. मीटिंग में चुनाव प्रचार समिति के अन्य सदस्यों के नाम पर चर्चा होगी.
3. चुनाव समिति के लिए 6 राज्यों की बीजेपी इकाई ने सदस्यों के नाम भी सुझाएं हैं. साथ ही इस चुनाव अभियान के लिए कई नारे भी सुझाए गए हैं. पार्टी के 'मिशन 2014' को क्या नाम दिया जाए, इस पर भी चर्चा 17 जून की बैठक में होगी.
4. जून महीने के अंत तक नरेंद्र मोदी प्रचार अभियान का आगाज करेंगे. इस दौरान वे पूरे देश का दौरा करेंगे.
5. नरेंद्र मोदी के एक करीबी ने जानकारी दी है कि जून से सितंबर माह के बीच मोदी तकरीबन 75 रैलियां करेंगे. यह चुनावी अभियान का पहला चरण होगा.
6. मोदी के चुनावी अभियान का पहला चरण 25 सितंबर को खत्म होगा. इस दिन भोपाल में एक बड़ी रैली का आयोजन किया जाएगा. गौर करने वाली बात है कि 25 सितंबर दीनदयाल उपाध्याय की जन्मतिथि भी है.
7. बीजेपी का मानना है कि चुनाव अभियान समिति के चेयरमैन के तौर पर मोदी की नियुक्ति उन्हें पूरे देश में पार्टी के लिए चुनाव में प्रचार का अधिकार देता है.
8. पिछले चुनावों की तर्ज पर फिलहाल किसी रथ यात्रा की योजना नहीं है. टीम मोदी का मानना है कि गुजरात के मुख्यमंत्री पूरे देश में रैलियों के जरिए प्रभावी तरीके से जनता से ज्यादा आसानी से जुड़ सकते हैं.
9. मोदी के मिशन 2014 में उत्तर प्रदेश सबसे अहम होगा. यूपी के नतीजे ही पार्टी का चुनावी भविष्य तय करेंगे.
10. बिहार, महाराष्ट्र और हैदराबाद (तेलंगाना क्षेत्र) में भी मोदी की बड़ी रैलियों का आयोजन किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें