scorecardresearch
 

सिद्धारमैया ने चला हिंदू टेरर कार्ड, BJP का जवाब- ये इंदिरा का भारत नहीं

सिद्धारमैया के हमले के बाद बीजेपी ने भी पलटवार किया. बीजेपी कर्नाटक के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया कि सिद्धारमैया चुनाव का ध्रुवीकरण कर रहे हैं.

कर्नाटक सिद्धारमैया (फाइल फोटो) कर्नाटक सिद्धारमैया (फाइल फोटो)

गुजरात और हिमाचल प्रदेश का चुनाव खत्म होने के बाद अब कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस में आर-पार की लड़ाई हो रही है. मुख्यमंत्री सिद्धारमैया लगातार बीजेपी पर हमला बोल रहे हैं तो बीजेपी भी करारा पलटवार कर रही है. बुधवार को सिद्धारमैया ने कहा कि NIA लगातार पीएफआई को निशाना बना रही है, उनके 5 लोगों पर चार्जशीट दायर की गई है.

सिद्धारमैया ने कहा कि क्या सरकार पीएफआई को बैन कर रही है. अगर ऐसा है तो आरएसएस और बजरंग दल भी आतंकवादी हैं. कोई भी कानून से ऊपर नहीं है. उन्होंने कहा कि जो भी कानून का उल्लंघन करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा. चाहे वो आरएसएस हो, वीएचपी हो या फिर बजरंग दल.

सिद्धारमैया के हमले के बाद बीजेपी ने भी पलटवार किया. बीजेपी कर्नाटक के ट्विटर अकाउंट से ट्वीट किया गया कि सिद्धारमैया चुनाव का ध्रुवीकरण कर रहे हैं. एक तरफ वो बीजेपी-आरएसएस को आतंकी संगठन कह रहे हैं दूसरी तरफ स्थानीय कांग्रेस अध्यक्ष दिनेश बीजेपी पर बैन की मांग कर रहे हैं. बीजेपी की ओर से ट्वीट में लिखा गया कि उन्हें समझना चाहिए कि ये 1975 नहीं है और आज इंदिरा गांधी प्रधानमंत्री नहीं हैं.  

आपको बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी आज कर्नाटक में ही हैं. शाह ने यहां पर परिवर्तन यात्रा की रैली में हिस्सा लिया. अमित शाह ने रैली में कहा कि सिद्धारमैया सरकार एंटी हिंदू है और वोटबैंक की राजनीति कर रही है. शाह ने कहा कि जो पैसा मोदी सरकार राज्य के विकास के लिए भेज रही है, वह कहां जा रहा है. शाह ने यहां बीजेपी की सरकार बनाने का आह्वान किया.

योगी और सिद्धारमैया में हुआ था ट्विटर वार

गौरतलब है कि इससे पहले भी सिद्धारमैया और यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ के बीच ट्विटर वार सामने आई थी. प्रचार के लिए कर्नाटक पहुंचे योगी का सिद्धारमैया ने ट्विटर पर स्वागत किया था. उन्होंने लिखा था कि योगी को हमारे प्रदेश से कुछ सीखना चाहिए. जिसका योगी ने भी तीखे अंदाज़ में जवाब दिया था.

उन्होंने लिखा था कि मैंने भी कर्नाटक में किसानों की मौतों के बारे में सुना है जो आपके कार्यकाल में सर्वाधिक रही है. ईमानदार अधिकारियों की मौत और उनके ट्रांसफर का भी योगी ने जिक्र किया. योगी ने आगे कहा कि यूपी में मैं अपने सहयोगी दलों द्वारा किए गए अनैतिक कामों और भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए काम कर रहा हूं.  

बता दें कि कर्नाटक विधानसभा चुनाव अप्रैल के महीने में होने हैं. राज्य की 225 विधानसभा सीटों में से मौजूदा समय में कांग्रेस के पास 121, बीजेपी के पास 40 और जनता दल (एस) के पास 40 सीटें है. बाकी 24 सीटें अन्य के पास है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें