scorecardresearch
 

EXCLUSIVE: गुलाम अली बोले- सीमाओं से परे है संगीत, दोनों देशों को करीब लाएगा

'आज तक' से खास बातचीत में गुलाम अली ने कहा कि वह कोलकाता में परफॉर्मेंस के बाद काफी खुश हैं. उन्होंने कहा कि दोनों देशों को साथ मिलकर गीत-संगीत के जरिए प्रेम और आपसी मेल को बढ़ाना चाहिए.

X

देश में लगातार विरोध का सामना कर रहे पाकिस्तानी सिंगर गुलाम अली ने मंगलवार को कोलकाता में कहा कि गीत और संगीत सीमाओं से परे है. वह भारत और पाकिस्तान दोनों देशों में है.

'आज तक' से खास बातचीत में गुलाम अली ने कहा कि वह कोलकाता में परफॉर्मेंस के बाद काफी खुश हैं. उन्होंने कहा कि दोनों देशों को साथ मिलकर गीत-संगीत के जरिए प्रेम और आपसी मेल को बढ़ाना चाहिए.

'जो विरोध कर रहे हैं वो भी संगीत प्रेमी हैं'
मुंबई में हुए विरोध और कंसर्ट रद्द किए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि कुछ लोग अपनी मर्जी का कर रहे हैं. लेकिन मैं नहीं समझता कि मेरे लिए कोई चिंता की बात है. मुझे पता है कि वहां जो मेरा विरोध कर रहे हैं उनमें भी कई संगीत प्रेमी हैं.

उन्होंने कहा कि दोनों देशों को प्यार का गीत गाना चाहिए. उम्मीद है कि संगीत दोनों देशों के लोगों के दिलों में प्यार भरेगा और रिश्ते सुधर सकते हैं. पाकिस्तानी सिंगर ने कहा, 'मैं कई बार कोलकाता आया हूं. मुझे इस शहर से लगाव है. यहां की भीड़ मुझे पसंद है.' उन्होंने कहा कि मैं एक परफॉर्मर हूं और जनता ही मेरी ताकत है.

गुलाम अली के बेटे ने भी किया परफॉर्म
इस मौके पर गुलाम अली के बेटे आमिर गुलाम अली भी मौजूद थे. उन्होंने कहा, 'हम जिन सुरों में गाते हैं वह हर जगह समान रहते हैं. हम संगीत ताकत पर भरोसा करते हैं और इसी के जरिए प्रेम बांटते हैं.' उन्होंने बताया कि कोलकाता में यह उनकी पहली परफॉर्मेंस थी. उन्हें भी शहर काफी रास आया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें