scorecardresearch
 

#Agenda15 गुलाम अली का कंसर्ट बेशक होना चाहिए: अदनान सामी

एजेंडा आजतक 2015 के दूसरे दिन सिंगर अदनान सामी ने अपनी सुरमयी आवाज और अपनी जिंदगी से जुड़े कई दिलचस्प किस्सों से समां बांधा.

X
एजेंडा आजतक पर अदनान सामी अपनी पत्नी  रोया फरयाबी एजेंडा आजतक पर अदनान सामी अपनी पत्नी रोया फरयाबी

एजेंडा आजतक 2015 के दूसरे दिन सिंगर अदनान सामी ने अपनी सुरमयी आवाज और अपनी जिंदगी से जुड़े कई दिलचस्प किस्सों से समां बांधा.

अदनान सामी ने अपना मोटापा कम करने से लेकर भारत की नागरिकता, असहिष्णुता जैसे कई मुद्दों पर अपनी राय शानदार अंदाज में रखी. अदनान सामी से हुई इस खास बातचीत में पूछे गए कई सवालों के उन्होंने दिलचस्प अंदाज में जवाब दिए. पेश है इस खास बातचीत के कुछ अंश:

बॉलीवुड में आपका एक्सपीरियंस कैसा रहा?
बॉलीवुड से भी पहले जिस चीज से मुझे प्यार मिला वो मेरे एलबम सॉन्ग थे. इन गानों को हिन्दुस्तान का प्यार मिला और इसके बाद बॉलीवुड ने भी मुझे अपनाया. आज हिन्दुस्तान में मुझे 16 साल हो गए हैं, यही मेरी कर्म भूमि है,  यही मेरा प्यार है.

भारत की नागरिकता मिलने पर आप क्या कहना चाहेंगे?
मैं खुद को वैसा ही देश को प्यार करने वाला भारतीय मानता हूं जैसे कि बाकी भारतीय इसे देखते हैं. मुझे बहुत गर्व महसूस होता है जब हिन्दुस्तान में कुछ अच्छा होता है. जैसे अगर मुंबई में कोई नया एयरपोर्ट बने तो मेरा भी ए‍क नागरिक की तरह दिल करता है कि मैं भी इसकी तस्वीर क्लि‍क कर फेसबुक पर पोस्ट करूं और अगर कोई चीज खराब लगती है तो मेरे दिल से भी यही निकलता है कि...यार कब ठीक होगा ये.

देश में असहिष्णुता विवाद पर आप क्या कहना चाहेंगे?
मैं सिर्फ यह कहना चाहूंगा कि अगर असहिष्णुता होती तो मैं हिन्दुस्तान की नागरिकता क्यों लेता? 

क्या गुलाम अली साहब को हिन्दुस्तान में परफॉर्म करना चाहिए?
बेशक करना चाहिए, क्योंकि मेरा मानना है कि संगीत का कोई मजहब, रंग और मुल्क नहीं होता. इसलिए मेरे लिए यह मायने नहीं रखता कि ए‍क सिंगर का मजहब क्या है, वह कौन से देश से है, मुझे सिर्फ उसकी आवाज अच्छी लगती है और उसकी आवाज से ही मतलब है. इसलिए यह मायने नहीं रखता कि गुलाम अली सा‍हब कहां से हैं. सिर्फ यह मायने रखता है कि उन्हें सुनने वाले किसी भी जहां के हो सकते हैं.

क्रिकेट पर आप क्या कहना चाहेंगे? क्या भारत-पाक में क्रिकेट मैच जारी रहने चाहिए?
मैं मानता हूं कि दोनों मुल्कों के बीच क्रिकेट होना चाहिए, उससे कुछ होगा तो नहीं लेकिन ठीक है खेलते रहें. लेकिन जब होना होगा, तब क्रिकेट खेलें या ना खेलें, उससे फर्क नहीं पड़ेगा.

मोटापा कैसे कम किया?
लोगों ने अकसर कहा कि मैंने लाइपोसक्शन करवाया लेकिन आप ही बताएं 230 किलो के सांड को एक सुई चुभो कर क्या आप हवा निकालकर उसका मोटापा दूर करेंगे. मैंने न्यूट्र‍िशनिस्ट को कसंल्ट किया और ब्रेड, अॉयल, चावल और मीठे से परहेज किया.

क्या खाते हैं आप जो आपकी आवाज इतनी शानदार है?
हसंते हुए, मैं सच बताऊं तो मैं देसी घी खूब खाता हूं. फिर चाहे मोटापे की ही बात क्यों ना हो मुझे देसी घी बेहद पसंद है; मैं इसे नहीं छोड़ सकता.

पहले मोटापे के कारण कभी आवाज पर कोई फर्क पड़ा?
खुशकिस्मत हूं कि मेरे मोटापे का मेरी आवाज पर कोई फर्क नहीं पड़ा लेकिन इसके कारण बाकी और बहुत परेशानियों का सामना किया. जैसे शो करने के बाद स्टेज से नीचे आने के बाद मैं 20 मिनट तक किसी से बात नहीं कर सकता था. मोटापे के कारण बहुत ज्यादा थकान हो जाया करती थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें