scorecardresearch
 

कर्नाटक विवाद पर बोलीं मायावती- सरकार गिराकर अपनी खीझ निकाल रही है BJP

मायावती ने कहा कि अब समय आ गया है कि दल-बदल करने वालों की सदस्यता खत्म करने वाला सख्त कानून देश में बनाया जाए. बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी कर चुनाव जीत लिया और अब राज्यों की गैर बीजेपी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है जिसकी बीएसपी कड़े शब्दों में निंदा करती है.

मायावती (फाइल फोटो) मायावती (फाइल फोटो)

कर्नाटक में अभी भी राजनीतिक घमासान जारी है. बागी विधायक अपनी अर्जी लेकर सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गए हैं. इसके अलावा दूसरी तरफ गोवा कांग्रेस में भी अफरा-तफरी का माहौल है. बुधवार गोवा में कांग्रेस के कुल 15 विधायकों में से 10 ने बीजेपी जॉइन कर ली.

इस मुद्दे पर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती की प्रतिक्रिया आई है. मायावती ने भारतीय जनता पार्टी पर धनबल के सहारे कर्नाटक और गोवा में विधायकों को तोड़ने का आरोप लगाया है. मायावती ने ट्वीट करके कहा कि ये देश के लोकतंत्र को कलंकित करने वाला है.

उन्होंने कहा कि अब समय आ गया है कि दल-बदल करने वालों की सदस्यता खत्म करने वाला सख्त कानून देश में बनाया जाए. बीएसपी सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी ने लोकसभा चुनाव में ईवीएम में गड़बड़ी कर चुनाव जीत लिया और अब राज्यों की गैर बीजेपी सरकार गिराने की कोशिश कर रही है जिसकी बीएसपी कड़े शब्दों में निंदा करती है.

मायावती ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए दो ट्वीट किए हैं जिसमें उन्होंने कहा कि बीजेपी ईवीएम में गड़बड़ी और धनबल आदि से केंद्र की सत्ता में दोबारा आ गई, लेकिन साल 2018 और 2019 में देश में अबतक हुए सभी विधानसभा आमचुनाव में अपनी हार की खीझ के बाद वह गैर-बीजेपी सरकारों को गिराने के अभियान से निकाल रही है. इसकी बीएसपी कड़े शब्दों में निंदा करती है.

गोवा में कांग्रेस विधायकों ने की बीजेपी जॉइन

गोवा में दो साल पहले बीजेपी दूसरे नंबर की पार्टी होते हुए भले ही सरकार बनाने में सफल रही, लेकिन संख्या कम होने के चलते सहयोगी दल दबाव बनाकर अपना हित साधते रहे. ऐसे में बुधवार को 10 कांग्रेसी विधायकों के बीजेपी में शामिल होने के बाद पार्टी बहुमत के जादुई आंकड़े से ज्यादा विधायकों की संख्या हासिल करने में कामयाब हो गई. साथ ही जीएफपी और निर्दलीय विधायकों के दबाव से भी बीजेपी सरकार को मुक्ति मिल गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें