scorecardresearch
 

संजय सिंह को किसी ने फोन कर पूछा- क्या अग्रवाल समुदाय का कोई व्यक्ति बन सकता है खालिस्तान का पीएम?

आम आदमी पार्टी राजस्थान में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अभी से तैयारी में जुट गई है. राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने जयपुर पहुंचकर दावा किया कि AAP राजस्थान में कांग्रेस और भाजपा के खिलाफ तीसरा मजबूत विकल्प मतदाताओं को देने की तैयारी कर रही है.

X
संजय सिंह (फाइल फोटो) संजय सिंह (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AAP नेता संजय सिंह ने कुमार विश्वास के बयान पर टिप्पणी की
  • संजय सिंह ने जयपुर में उठाया ये मुद्दा

आम आदमी पार्टी के यूपी प्रभारी और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने जयपुर में कुमार विश्वास पर कटाक्ष करते हुए कहा कि उन्होंने एक बेतुका बयान दिया कि केजरीवाल ने दावा किया है कि वह खालिस्तान के प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं. उन्होंने बताया कि मुझे किसी का फोन आया जिसने मुझसे पूछा कि कोई इस बात पर सवाल क्यों नहीं उठा रहा है कि वह (अरविंद केजरीवाल) खालिस्तान का नेतृत्व कर सकते हैं? क्या वास्तव में खालिस्तान का गठन अग्रवाल समुदाय से आने वाले व्यक्ति के नेतृत्व में हो सकता है? कोई ऐसा कैसे कह सकता है? क्या अग्रवाल समुदाय का कोई व्यक्ति खालिस्तान का प्रधानमंत्री बन सकता है?'

कुमार विश्वास ने दिया था बयान

पंजाब में चुनाव से ठीक पहले कुमार विश्वास ने अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए थे. उन्होंने कहा था कि वो आदमी कुछ भी कर सकता है. केजरीवाल पंजाब के सीएम या स्वतंत्र राष्ट्र (खालिस्तान) के पहले प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं. भगवंत मान(आम आदमी पार्टी के सीएम फेस) तो सिर्फ मोहरा हैं. इस दावे के बाद पंजाब के तत्कालीन मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर जांच की मांग तक कर ली थी.

केजरीवाल के यू-ट्यूब वाले सुझाव का किया समर्थन

संजय सिंह ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि बीजेपी फिल्म द कश्मीर फाइल्स को लेकर थिएटर और ड्रामे में मग्न है. उन्होंने द कश्मीर फाइल्स को टैक्स फ्री करने को लेकर दिए गए केजरीवाल के सुझाव का समर्थन किया. संजय सिंह ने कहा कि उनके सुझाव में कुछ भी गलत नहीं है कि फिल्म को YouTube पर डाला जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि निर्माता पहले ही फिल्म से 200 करोड़ से अधिक कमा चुकी है. वह और क्या चाहते हैं?

'कश्मीर फाइल्स को दूरदर्शन पर दिखाए सरकार'

संजय सिंह ने कहा कि अगर भाजपा सरकार वास्तव में मानती है कि यह फिल्म सभी को देखनी चाहिए, तो इसे YouTube पर डाल देना चाहिए ताकि लोग फ्री में इसे देख सकें. उन्होंने कहा कि जिस तरह से सरकार कोरोना महामारी के दौरान दूरदर्शन पर रामायण दिखाती थी, इस फिल्म को भी दूरदर्शन हफ्ते भर में तीन बार दिखाए, ताकि पूरा देश इस फिल्म को फ्री में देख सके.

'जगमोहन जब राज्यपाल थे तब क्यों नहीं की कार्रवाई'

संजय सिंह ने कहा, "गैर-मुद्दे पर हंगामा क्यों? भाजपा भावनाओं को भुनाने के लिए ड्रामा कर रही है. क्या आपको सच में लगता है कि ये भाजपा वाले कश्मीरी पंडितों की चिंता करते हैं? जगमोहन उस समय कश्मीर में राज्यपाल थे. वह भाजपा के आदमी हैं, जो वाजपेयी सरकार में मंत्री बनने की चाहत में वहां चले गए. इन लोगों ने तब कार्रवाई क्यों नहीं की? क्या आपको लगता है कि वे वास्तव में कश्मीरी पंडितों की दुर्दशा से चिंतित हैं?"

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें