scorecardresearch
 

पंजाब में कोरोना की कोई नई स्ट्रेन अभी तक नहीं मिली है- स्वास्थ्य सचिव

स्वास्थ्य सचिव हसन लाल ने बताया कि ''कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में हमने 500 से ज्यादा सैम्पल एनआइवी पुणे, एनसीडीसी दिल्ली और आईजीआईबी दिल्ली में भेजे हैं. जितनी भी जानकारी अभी तक मिली है उसके मुताबिक पंजाब में किसी भी दूसरे स्ट्रेन की एंट्री नहीं हुई है.

पंजाब में कोरोना वायरस फिर से बढ़ने लगा है (फाइल फोटो) पंजाब में कोरोना वायरस फिर से बढ़ने लगा है (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पंजाब में बढ़ रहे हैं कोरोना के मामले
  • किसान आंदोलन और सार्वजनिक सभाओं का है प्रभाव
  • डॉक्टरों में कोरोना वैक्सीन को लेकर हैं आशंकाएं

देशभर में कोरोना के एक्टिव मामले फिलहाल नियंत्रण में हैं लेकिन कुछ राज्यों जैसे पंजाब, केरल और महाराष्ट्र में कोरोना के मामले अचानक से बढ़ने लगे हैं. लोगों में कोरोना के नए वैरियंट को लेकर भी आशंका और भय बना हुआ है. इन्हीं तमाम सवालों को लेकर आजतक ने पंजाब के स्वास्थ्य विभाग के सचिव हसन लाल से खास बातचीत की है.

जिसमें स्वास्थ्य सचिव हसन लाल ने बताया, ''कोरोना के नए स्ट्रेन के बारे में हमने 500 से ज्यादा सैम्पल अब तक एनआइवी पुणे, एनसीडीसी दिल्ली और आइजीआइबी दिल्ली में भेजे हैं. हमारे पास उसमें से सिर्फ 14 सैंपल की रिपोर्ट अभी तक उपलब्ध हुई है. उसमें कोई पॉजिटिव नहीं है बाकी सैंपल की रिपोर्ट आनी बाकी है. जितनी भी जानकारी अभी तक मिली है उसके मुताबिक पंजाब में किसी भी दूसरे स्ट्रेन की एंट्री नहीं हुई है. हम लगातार टोटल सैंपल का 5 % टेस्टिंग के लिए भेज रहे हैं लेकिन अभी तक किसी भी इस तरह के नए स्ट्रेन कि पंजाब में पुष्टि नहीं हुई है.''

स्वास्थ्य सचिव हुसन लाल ने आगे कहा, ''जब से पब्लिक गैदरिंग दोबारा से शुरू हुई है तब से पॉज़िटिविटी दर लगातार बढ़ी है, और ये कह सकते हैं कि पॉज़िटिव मामलों में 2% की बढ़ोतरी हुई है. हमारे पास पंजाब में औसतन 350 के करीब मामले हर रोज आ रहे हैं और हम प्रतिदिन 20,000 सैंपलिंग कर रहे हैं.''

उन्होंने आगे कहा कि ''किसान महापंचायत हो या फिर कोई भी गैदरिंग हो, जब इतनी बड़ी तादात में लोग जुटेंगे और कोरोना की गाइडलाइन को नहीं मानेंगे तो मान कर चलिए खतरा उतना ही बढ़ता जाएगा, बस गनीमत ये है कि इस तरह के बड़े कार्यक्रम खुले में हो रहे हैं और वहां पर वेंटिलेशन है इसलिए अभी तक बचाव चल रहा है.''

''अभी तक पंजाब में 80 हजार हेल्थ वर्कर्स को कोरोना वैक्सीन दी गई है, तकरीबन 15,000 के करीब लोग कोरोना की दूसरी डोज भी ले चुके हैं. फ्रंटलाइन वर्कर्स 25,000 के करीब डोज ले चुके हैं, अब तक हमारे 40% हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लग चुकी है.''

कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में जो आशंकाएं हैं उसे स्वीकारते हुए स्वास्थ्य सचिव ने कहा कि ''जरूर हमारे हेल्थ वर्कर्स हों या फिर फ्रंटलाइन वर्कर्स हो, दोनों में ही वैक्सीन को लेकर कुछ आशंकाएं हैं लोग पीछे हटे हैं लेकिन हम इस समस्या का समाधान कर रहे हैं और लोगों को आश्वस्त कर रहे हैं.''

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें