scorecardresearch
 

पंजाब के फरीदकोट में यूथ कांग्रेस नेता की हुई थी हत्या, दिल्ली पुलिस ने 3 आरोपियों को पकड़ा

18 फरवरी को बाइक सवार पर सवार होकर आए दो अज्ञात हमलावरों ने फरीदकोट के जुबली चौक पर कांग्रेस नेता पर कई राउंड गोलियां चलाई थीं. जिसके बाद उन्हें आनन-फानन अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी.

यूथ कांग्रेस के नेता गुरलाल सिंह भुल्लर (फ़ोटो- @IYCPunjab) यूथ कांग्रेस के नेता गुरलाल सिंह भुल्लर (फ़ोटो- @IYCPunjab)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 18 फरवरी को भुल्लर पर अपराधियों ने की थी फायरिंग
  • फरीदकोट के जुबली चौक पर हुई थी वारदात
  • दिल्ली पुलिस ने तीन को गिरफ्तार किया

पंजाब के फरीदकोट में यूथ कांग्रेस नेता गुरलाल सिंह भुल्लर की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. भुल्लर की हाल ही में गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.भुल्लर की हत्या के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा था कि दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने पंजाब के डीजीपी को सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए थे.

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने जिन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. उनमें गुरिंदर पाल @ गोरा (मुख्य साजिशकर्ता),सुखविंदर,सौरभ शामिल हैं. तीनों फरीदकोट के निवासी हैं और लॉरेंस विश्नोई गैंग के सदस्य हैं. गुरिंदर पाल कनाडा स्थित लॉरेंस के साथी गोल्डी बरार और उसके चचेरे भाई गुरलाल बरार (जिसकी  नवम्बर 2020 में हत्या कर दी गयी थी) का बहनोई है.

बता दें कि 18 फरवरी को बाइक सवार पर सवार होकर आए दो अज्ञात हमलावरों ने फरीदकोट के जुबली चौक पर कांग्रेस नेता पर कई राउंड गोलियां चलाई थीं. जिसके बाद उन्हें आनन-फानन अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई थी. गुरलाल सिंह फरीदकोट जिले के यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष थे. गिरफ्तार किए गए आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. पुलिस इस मामले में जांच कर रही है.

 

गौरतलब है कि  कुख्यात गैंगस्टर लारेंस बिश्नोई ने कुछ दिन पहले फेसबुक पर गुरलाल सिंह भुल्लर को जान से मारने की धमकी दी थी. गुरलाल सिंह की हत्या करने के लिए बदमाश उसका पीछा करते हुए दिल्ली भी आए थे लेकिन वारदात को अंजाम नहीं दे पाए. फरीदकोट में कई दिनों तक रेकी की गई जिसके बाद मौका मिलने पर हत्या कर दी गई. हत्या का मास्टरमाइंड कनाडा में रहता है. उसने वहीं से अपने गुर्गों को टारगेट किलिंग के लिए कहा था.

बता दें कि पंजाब में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने हाल ही में सम्पन्न हुए नगर निकाय चुनाव में अच्छा प्रदर्शन किया था. चुनाव के दौरान हिंसा में काफी हिंसा सामने आई थी. 2 फरवरी के दिन अकाली दल के नेता सुखबीर बादल की गाड़ी पर भी हमला हुआ था. घटना के बाद अकाली दल के कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया था कि ये हमला कांग्रेसियों की तरफ से किया गया है. इस हमले के बाद अकाली और कांग्रेसी आपस में भिड़ गए थे. निकाय चुनाव के दौरान आप-कांग्रेस, बीजेपी और अकाली के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प की खबरें भी सामने आई थीं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें