scorecardresearch
 

राजनीतिक पार्टियों की आमदनी घटी, फिर भी BJP को मिला सबसे ज्यादा चंदा

देश की राजनीतिक पार्टियों की आमदनी भले ही 2020 में घटी हो, लेकिन बीजेपी अभी भी चंदा एकत्र करने में टॉप पर है. कांग्रेस इस मामले में दूसरे नंबर पर है.

X
सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बीजेपी को 2020 में 752 करोड़ की आमदनी हुई
  • कांग्रेस को 2020 में 285 करोड़ की आमदनी हुई

चुनावी साल 2019 के मुकाबले 2020 में देश की राजनीतिक पार्टियों की आमदनी में गिरावट दर्ज की गई है. लेकिन अभी भी सबसे ज्यादा चंदा एकत्र करने वाली पार्टी बीजेपी है. दरअसल, 8 राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त दलों ने निर्वाचन आयोग के पास अपनी आय-व्यय का ब्योरा जमा कराया है. इसमें सामने आया है कि 8 पार्टियों की कुल आय 2020-21 में 1373 करोड़ रुपए हुई. इसमें सिर्फ बीजेपी की हिस्सेदारी आधे से ज्यादा यानी 54 फीसदी रही.

आठ राष्ट्रीय पार्टियों ने तय समय सीमा से देरी से अपनी आय और व्यय का ब्योरा दिया है. इसमें बीजेपी, कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, राष्ट्रवादी कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, सीपीआई, सीपीएम और एनपीईपी शामिल हैं. 

सबसे पहले बात बीजेपी की करें तो भारतीय जनता पार्टी की सबसे ज्यादा आमदनी हुई है. बीजेपी को 2019-20 में करीब 3623 करोड़ की आमदनी हुई, जबकि अगले ही साल 2020-21 में यह घटकर 752 करोड़ रह गई. लिहाजा बीजेपी की आमदनी में 79.24 प्रतिशत की कमी हुई है. इस हिसाब से 2870 करोड़ रुपए की कमी दर्ज की गई.

कांग्रेस के आय-व्यय पर नजर डालें तो 2020-21 में कांग्रेस को 285 करोड़ 76 लाख रुपए की आमदनी हुई थी, जबकि 2019-20 में कांग्रेस को 682 करोड़ 21 लाख रुपए की आमदनी हुई. वहीं BSP को 2020-21 में 52.467 करोड़, TMC को 74.417 करोड़, CPM को 171.046 करोड़ रुपए की आमदनी हुई थी.

किस पार्टी को कितना चंदा मिला

निर्वाचन आयोग के पास आए इस ब्योरे की समीक्षा एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स और नेशनल इलेक्शन वॉच ने की है. इसमें पता चला कि बीजेपी को 2020-21 में चंदे से 577.974 करोड़ रुपए मिले, जबकि कांग्रेस 95.424 करोड़ चंदा हासिल कर दूसरे स्थान पर रही. CPM को 95.294 करोड़, TMC को 42.214 करोड़, NCP को 26.261 करोड़ और एनपीईपी को 67.17 लाख रुपए का चंदा मिला.

वर्ष 2019- 20 के मुकाबले 2020-21 में बीजेपी और कांग्रेस के अलावा TMC की आमदनी में 48.2 फीसदी, NCP की आमदनी में 59.19 फीसदी, बीएसपी की आमदनी में 9.94 फीसदी, सीपीआई की आमदनी में 67.65 फीसदी और एनपीईपी की आमदनी में 62.91 फीसदी की कमी दर्ज की गई.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें