scorecardresearch
 

शाह का मिशन तमिलनाडु, AIADMK करेगी राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई की मांग

बीजेपी की निगाहें अब तमिलनाडु पर है, जहां पार्टी के राजनीतिक आधार को मजबूत करने के लिए शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पहुंच रहे हैं. बीजेपी की 'वेल यात्रा' को मजबूत करने के साथ विभिन्न विषयों पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ अमित शाह चर्चा करेंगे. वहीं, राज्य की सत्ता पर काबिज AIADMK केंद्रीय गृह मंत्री के सामने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा करने का मुद्दा उठाएगी.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अमित शाह एक दिवसीय दौरे पर तमिलनाडु जाएंगे
  • अमित शाह पार्टी को मजबूत करने के लेकर चर्चा करेंगे
  • AIADMK पूर्व पीएम के हत्यारों की रिहाई का मुद्दा उठाएगी

तमिलनाडु में अगले साल की शुरुआत में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए सियासी बिसात बिछाई जाने लगी है. ऐसे में बीजेपी की निगाहें अब तमिलनाडु पर हैं, जहां पार्टी के राजनीतिक आधार को मजबूत करने के लिए शनिवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह पहुंच रहे हैं. बीजेपी की 'वेल यात्रा' को मजबूत करने के साथ विभिन्न विषयों पर पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ अमित शाह चर्चा करेंगे. वहीं, राज्य की सत्ता पर काबिज AIADMK केंद्रीय गृह मंत्री के सामने पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों को रिहा करने का मुद्दा उठाएगी.  

अमित शाह शनिवार को तमिलनाडु पहुंचेंगे, जहां वो प्रदेश इकाई के पदाधिकारियों और कोर कमेटी को भी संबोधित करेंगे. साथ ही पार्टी पदाधिकारियों के साथ मुलाकात और चुनावी एजेंडे पर मंथन करेंगे. बीजेपी ने छह नवंबर से राज्य स्तर पर वेल यात्रा निकालने की कोशिश की थी, लेकिन राज्य सरकार ने कोरोना वायरस महामारी का हवाला देते हुए इस पर रोक लगा दी है, इसे लेकर भी अमित शाह पार्टी नेताओं के साथ चर्चा करेंगे. 

वहीं, अमित शाह के दौर पर AIADMK की भी नजर है. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के हत्यारों की रिहाई का मुद्दा AIADMK प्रदेश में अपने सभी कार्यक्रमों में उठा रही है. ऐसे में तमिलनाडु सरकार में मंत्री जय कुमार से पत्रकारों ने सवाल किया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के सामने इस मुद्दे को उठाएंगे या नहीं. इस सवाल के जवाब में जय कुमार ने कहा कि जब मुख्यमंत्री ई पलानीसामी दिल्ली गए थे, तब भी हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सभी सातों दोषियों की रिहाई के लिए आग्रह किया था. इस मुद्दे को हम लगातार उठा रहे हैं और गृह मंत्री से भी कहेंगे. 

बता दें कि राजीव गांधी की हत्या के मामले में 26 लोगों को फांसी की सजा कोर्ट ने दी थी. इस मामले में कई लोगों की मौत हो गई थी बाकी बचे सात लोगों की सजा आजीवन कैद में तब्दील कर दी गई थी. राजीव गांधी की पत्नी सोनिया गांधी और बेटे राहुल गांधी ने फांसी की सजा को आजीवन कैद में तब्दील करने के लिए कोर्ट से अपील की थी. हालांकि, इसके बाद भी दोषियों की रिहाई की मांग उठती रही है, जिसके लिए AIADMK सरकार ने सातों दोषियों की रिहाई के लिए राज्यपाल से सिफारिश की थी. ऐसे में अब चुनाव में फिर यह उठाया जा रहा है. 

पूर्व सीएम जयललिता की पूर्व सहयोगी और आय से अधिक संपत्ति मामले में जेल की सजा काट रहीं वीके शशिकला ने बुधवार को बेंगलुरु अदालत में 10 करोड़ रुपये का जुर्माना भरा है, जिससे उनकी रिहाई होने की उम्मीद दिख रही है. ऐसे में AIADMK नेता और मंत्री जय कुमार ने कहा कि पार्टी और सरकार दोनों ही शशिकला से दूरी बनाकर रखेगी. शशिकला के रिहा होने से AIADMK की राजनीति पर कोई असर नहीं पड़ेगा. वहीं, दूसरी ओर जय कुमार ने कहा कि एमके अलागिरी अगर सक्रिय राजनीति में उतरते हैं तो इसका असर जरूर डीएमके पर पड़ेगा. 

DMK प्रमुख स्टालिन तमिलनाडु की सियासी जंग फतह करने और अपनी पार्टी के पक्ष में माहौल बनाने के लिए 5 जनवरी से यात्रा शुरू करने जा रहे हैं, जिसे उन्होंने एक सूर्योदय यात्रा का नाम दिया है. स्टालिन की यात्रा पर तंज कसते हुए जय कुमार ने कहा कि तमिलनाडु में डीएमके ही था, जो अंधेरा लेकर आया था. ऐसे में वो इसे दूर करने के लिए अभियान क्यों करेंगे. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें