scorecardresearch
 

अब UP में चुनाव की तैयारी, मिशन तमिलनाडु पर अमित शाह, सुनें 'आज का दिन'

बिहार का विधानसभा चुनाव निपट गया. अब ये चुनावी समर पहले पश्चिम बंगाल और उसके बाद उत्तर प्रदेश में देखने को मिलेगा. वो बात ठीक है कि यूपी के चुनाव में डेढ़ साल की देर है लेकिन सुगबुगाहट तो आप भी सुन ही रहे होंगे.

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो-PTI) केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (फाइल फोटो-PTI)

बिहार का विधानसभा चुनाव निपट गया. अब ये चुनावी समर पहले पश्चिम बंगाल और उसके बाद उत्तर प्रदेश में देखने को मिलेगा. वो बात ठीक है कि यूपी के चुनाव में डेढ़ साल की देर है लेकिन सुगबुगाहट तो आप भी सुन ही रहे होंगे. अभी पिछले दिनों समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि वो आनेवाले विधानसभा चुनाव में किसी भी बड़े दल के साथ गठबंधन नहीं करेंगे. अब सपा ने पिछला चुनाव कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ा था. तो माना ये जा रहा है कि अखिलेश का इशारा कांग्रेस की तरफ़ था. तो अब कांग्रेस क्या करनेवाली है.. इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमने फ़ोन मिलाया आज तक रेडियो के संवाददाता अभिषेक मिश्रा को.

बिहार के बाद अब चुनाव की चर्चा बंगाल को लेकर है, लेकिन भूलिए मत कि तमिलनाडु में भी इलेक्शन हैं. बीजेपी बिहार और बंगाल के बाद इस बार तमिलनाडु में भी काफी एक्टिव है और इसी हफ़्ते गृह मंत्री अमित शाह तमिलनाडु दौरे पर जा रहे हैं. एक अख़बार ने अपने सूत्रों के हवाले से लिखा है  एम. करुणानिधि के बड़े बेटे अलागिरि एक नई पार्टी बनाकर बीजेपी से गठबंधन कर सकते हैं. अलागिरी छह साल से राजनीति में सक्रिय नहीं हैं, उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों की वजह से डीएमके से निकाल दिया गया था.  पार्टी की कमान तब से करुणानिधि के छोटे बेटे एमके स्टालिन के हाथों में है. हमने बात की चेन्नई बेस्ड सीनियर जर्नलिस्ट डी सुरेश कुमार से और उनसे पूछा कि करुणानिधि के बेटे अलागिरि एक पॉलिटिकल फ्रंट बनाकर बीजेपी से गठबंधन करने वाले हैं, क्या ऐसी ख़बरें हैं, क्या ऐसी ख़बरों में दम है?

कोरोना वैक्सीन पर एक गुड न्यूज़ है. अमेरिकी दवा कंपनी मॉडर्ना ने दावा किया है कि उसकी कोरोना वैक्सीन 94 फीसदी से ज्यादा प्रभावी है. मॉडर्ना ने करीब 30 हजार प्रतिभागियों पर क्लीनिकल ट्रायल पूरा करने के बाद ये प्रतिक्रिया दी है. हाल ही में अमेरिका की ही एक और दवा कंपनी फाइजर ने भी उसकी वैक्सीन के 90 फीसदी से ज्यादा प्रभावी होने का दावा किया था. अब इन दोनों वैक्सीन के दावे की वजह से बेशक वैक्सीन को लेकर उम्मीदें बढ़ गई हैं लेकिन दावे में दम कितना है और भारत में कब तक दवा आने की उम्मीद है? और सबसे बड़ा मुद्दा जो बना हुआ है वैक्सीन के स्टोरेज और सप्लाई को लेकर, इसमें कैसी बाधा आ सकती है..  बता रहे हैं - रिचीक मिश्रा. 

अब एक ख़बर कारोबारी दुनिया से जहां ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म की ज़िंदाबाद हो रही है. कार हो या सोना लोग धड़ल्ले से ऑनलाइन ख़रीद रहे हैं. देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुज़ुकी ने डिजिटल चैनल से दो साल में दो लाख कार बेच दीं. साल 2018 में कंपनी ने ये सेवा शुरू की थी और उसका कहना है कि 21 लाख कस्टमर्स ने इस के ज़रिए इन्क्वायरी की जिससे तीन गुना अधिक कार बिकीं. यही कुछ हाल बाक़ी जगह भी है. मसलन सोना. वो भी खूब ऑनलाइन बिक रहा है. एक्ज़ाम्पल लीजिए टाइटन का. उसकी एक कंपनी है कैरेटलेन. कैरेटलेन ने पिछले साल के फेस्टिव पीरियड के मुकाबले इस साल साठ परसेंट ऑनलाइन रेवेन्यू ज़्यादा कमाया है. यही अनुभव बाक़ी ज्वैलर्स का भी है. ऑनलाइन मीडियम की वजह से मार्केट कैसे फिर पटरी पर लौट रहा है यही समझा रहे हैं शुभम शंखधार.

और ये भी जानिए कि 17 नवंबर की तारीख इतिहास के लिहाज़ से अहम क्यों है.. क्या घटनाएं इस दिन घटी थीं. अख़बारों का हाल भी चंद मिनटों में सुनिए और खुद को अप टू डेट कीजिए. इतना कुछ महज़ आधे घंटे के न्यूज़ पॉडकास्ट 'आज का दिन' में नितिन ठाकुर के साथ.

'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें