scorecardresearch
 

अहमद पटेल के निधन पर बोलीं सोनिया गांधी- मैंने एक दोस्त और वफादार सहयोगी खो दिया

अहमद पटेल के निधन पर सोनिया गांधी ने कहा कि मैंने एक वफादार सहयोगी, एक दोस्त और एक ऐसे कॉमरेड को खो दिया, जिसकी जगह कोई नहीं ले सकता है. मैं उनके निधन पर शोक व्यक्त करती हूं.

सोनिया गांधी के साथ अहमद पटेल (फाइल फोटो-PTI) सोनिया गांधी के साथ अहमद पटेल (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अहमद पटेल का आज सुबह हुआ निधन
  • सोनिया गांधी ने अहमद पटेल को किया याद

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का निधन हो गया है. 71 साल के अहमद पटेल लंबे समय से बीमार चल रहे थे. उन्होंने गुरुग्राम के मेदांता अस्पताल में आखिरी सांस ली. एक महीने पहले उन्हें कोरोना हो गया था। उसके बाद से उनकी सेहत खराब चल रही थी. तबीयत बिगड़ने के बाद उन्हें कुछ दिन पहले मेदांता में भर्ती कराना पड़ा था.

अहमद पटेल की मल्टी ऑर्गन फेल्योर की वजह से हालत नहीं सुधरी. आज सुबह 3.30 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली. अहमद पटेल के बेटे फैसल पटेल ने ट्वीट कर अपने पिता के निधन की जानकारी दी. साथ ही अपील की कि लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें, सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखें और भीड़ जमा ना करें.

कांग्रेस के 'चाणक्य' कहे जाने वाले अहमद पटेल के निधन से पार्टी में शोक की लहर है. कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि मैंने एक सहयोगी को खो दिया है, जिसका पूरा जीवन कांग्रेस पार्टी को समर्पित था. उनकी ईमानदारी और समर्पण, कर्तव्य के प्रति उनकी प्रतिबद्धता, हमेशा मदद करने की कोशिश, उदारता... उनमें यह सभी दुर्लभ गुण थे, जो उन्हें दूसरों से अलग करते थे.

देखें: आजतक LIVE TV 

सोनिया गांधी ने कहा कि मैंने एक वफादार सहयोगी, एक दोस्त और एक ऐसे कॉमरेड को खो दिया, जिसकी जगह कोई नहीं ले सकता है. मैं उनके निधन पर शोक व्यक्त करती हूं और मैं उनके शोक संतप्त परिवार के लिए को सांत्वना देती हूं. अहमद पटेल के परिवार के प्रति सहानुभूति और समर्थन की सच्ची भावना प्रदान करती हूं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें