scorecardresearch
 

'सीट उखड़ी, सामान हम पर गिरने लगा, ऐसा लगा प्लेन उल्टा हो जाएगा', SpiceJet विमान हादसे में बचे यात्रियों का दर्द

SpiceJet का विमान रविवार को मुंबई से अंडाल (दुर्गापुर, बंगाल) के लिए उड़ा था. यहां इसे काजी नजरूल इस्लाम एयरपोर्ट पर उतरना था लेकिन इससे पहले ही यह काल बैसाखी तूफान में फंस गया.

X
स्पाइसजेट ने बताया कि कुल 11 यात्री हादसे में जख्मी हुए स्पाइसजेट ने बताया कि कुल 11 यात्री हादसे में जख्मी हुए
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मुंबई से दुर्गापुर जा रही थी SpiceJet की फ्लाइट
  • लैंडिंग के दौरान हादसा, 11 यात्री जख्मी हुए

रविवार का दिन, SpiceJet की SG-945 फ्लाइट से कुछ यात्री मुंबई से बंगाल के दुर्गापुर जा रहे थे. सब मंजिल तक पहुंचने ही वाले थे कि एकाएक आए तूफान ने सब बदल दिया. यह प्लेन लैंडिंग से कुछ वक्त पहले एयर टर्बुलेंस का शिकार हो गया, जिसके बाद लगे झटकों में 11 यात्री घायल हो गए. इस डरावने अनुभव ने उनके मन में हवाई सफर के लिए खौफ पैदा कर दिया है. केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अब इस मामले में कमेटी बनाने का ऐलान किया है. 

पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर (Durgapur) में रविवार को एक प्लेन हादसा हुआ, जिसमें 11 लोग जख्मी हो गए. प्लेन में सवार यात्री अब जिस तरह उस भयानक स्थिति को बयां कर रहे हैं, उससे यही लग रहा है कि एक बड़ा हादसा होते-होते टल गया. दूसरी तरफ SpiceJet के आधिकारिक बयान और यात्रियों की कही बात में भी फर्क देखने को मिल रहा है.

हादसे में 11 यात्री जख्मी हुए

बता दें कि रविवार रात को SpiceJet की फ्लाइट SG-945 मुंबई से दुर्गापुर जा रही थी. स्पाइसजेट ने बताया था कि लैंडिंग के दौरान विमान को कुछ झटके लगे जिससे कई यात्रियों को चोट आ गई. बताया गया है कि यह विमान काल बैसाखी तूफान में फंसा था. काल बैसाखी तूफान बंगाल को गर्मी से राहत देने वाला माना जाता है.

सामान रखने वाली रैक ही टूटकर यात्रियों पर गिरी

प्लेन में झटके इतने भयानक थे कि सामान रखने वाली रैक ही टूटकर यात्रियों पर गिर गई. रखा सामान गिरने से ही यात्रियों को चोट आई. घायल यात्रियों का इलाज करने वाले डॉक्टर तपन कुमार के मुताबिक, लैंडिंग के दौरान यात्री सीटों के ऊपर मौजूद लगैज कैबिन टूट गया था. इस वजह से उसमें रखा सामान नीचे बैठे यात्रियों पर गिरने लगा. इसकी वजह से ही ज्यादातर यात्री घायल हुए.

यह भी पढ़ें - इमरजेंसी लैंडिंग के दौरान प्लेन के हुए दो टुकड़े, PHOTOS

डॉक्टर तपन ने यह भी बताया कि एक यात्री की रीढ़ की हड्डी पर गंभीर चोट लगी है. डॉक्टर तपन ने कहा कि उनको एयरपोर्ट अथॉरिटी की तरफ से एयर टरब्यूलेंस की कोई जानकारी नहीं दी गई.

विमान की सीट भी टूट गई थी

जख्मी यात्री मोहम्मद इनामुल अंसारी ने बताया कि लैंडिंग से आधे घंटे पहले की बात है. उनको कुछ हल्के झटके महसूस हुए. फिर कुछ देर बाद बड़े झटके लगने शुरू हुए जिससे उनकी सीट भी टूट गई.

दूसरे जख्मी यात्री ने भी यही बताया कि लैंडिंग से कुछ वक्त पहले उनको झटके लगे. वह बोले कि प्लेन ऊपर-नीचे हिल रहा था. ऐसा लग रहा था कि प्लेन अब पलट जाएगा.

वहीं जख्मी महिला यात्री ने कहा कि लैंडिंग से पहले बाहर तेज बिजली कड़क रही थी. उसी वक्त प्लेन में झटके लगने लगे. महिला बोली, 'मैंने अपने बेटे से पूछा कि इतने झटके क्यों लग रहे हैं. फिर उन्हीं झटकों की वजह से मैं गिर गई और मुझे चोट लग गई.'

SpiceJet ने कही बेल्ट वाली बात

SpiceJet की तरफ से बताया गया है कि दुर्गापुर में हुए प्लेन हादसे में कुल 11 लोग जख्मी हुए हैं. इसमें से 8 यात्री अब डिस्चार्ज हो चुके हैं.

SpiceJet के बयान में आगे कहा गया है कि जिस वक्त हादसा हुआ तब सीट बेल्ट का साइन ऑन था. मतलब यात्रियों को सीट बेल्ट लगाकर रखनी थी. एयरलाइंस का कहना है कि पायलट की तरफ से कई बार अनाउंसमेंट की गई थी कि यात्री सीट पर बैठे रहें और बेल्ट लगाकर रखें.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें