scorecardresearch
 

देश के 60 एयरपोर्ट पर अब निजी सुरक्षा गार्ड्स की होगी तैनाती, खर्चे कम करने में जुटी सरकार

केंद्र सरकार अपने खर्चों को कम करने पर लगातार काम कर रही है. इसके तहत उसने फैसला लिया है कि देश के 60 एयरपोर्ट्स पर अब सीआईएसएफ के जवान तैनात नहीं किए जाएंगे. उनकी जगह निजी सुरक्षा एजेंसी के सुरक्षाकर्मी लगाए जाएंगे. सीआईएसएफ के जवानों को दूसरे एयरपोर्ट्स पर तैनात किया जाएगा. इस बदलाव के पीछे सरकार का तर्क है कि ऐसा इसलिए किया जा रहा है ताकि सुरक्षा में आ रहे खर्च को कम किया जा सके.

X
केंद्र सरकार ने देश के 60 एयरपोर्ट्स की सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव किए (फाइल फोटो) केंद्र सरकार ने देश के 60 एयरपोर्ट्स की सुरक्षा व्यवस्था में बदलाव किए (फाइल फोटो)

देश के 60 एयरपोर्ट्स में अब सीआईएसएफ की जगह निजी सुरक्षा एजेंसियों को तैनात किया जाएगा. इस योजना के तहत एजेंसियों के सुरक्षा कर्मचारियों की तैनाती नॉन-कोर डयूटी पोस्ट पर की जाएगी. इन हवाई अड्डों पर निजी एजेंसी के करीब 1,924 गार्ड तैनात किए जाएंगे.

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी एएआई (AAI) के अनुसार, इस निर्णय से सुरक्षा व्यय में कमी आएगी और सीआईएसएफ कर्मियों को दूसरे हवाई अड्डों पर तैनात किया जा सकता है जिससे सुरक्षा व्यवस्था और मजबूत होगी. इससे नए घरेलू और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों के संचालन में और मदद मिलेगी. 

एयरपोर्ट एथॉरिटी और सुरक्षाबल के अफसरों ने बैठक की

AAI ने 45 हवाई अड्डों पर नॉन कोर पदों के लिए सुरक्षा एजेंसियों के महानिदेशालय से 581 सुरक्षा कर्मियों को नियुक्त किया है. इन सुरक्षा कर्मियों को चयनित हवाई अड्डों पर विमानन सुरक्षा (एवीएसईसी) प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरा करने के बाद तैनात किया जाएगा.

निजी सुरक्षा एजेंसी के जवानों को दी जा रही ट्रेनिंग

आज की तारीख में 16 हवाई अड्डों के लिए 161 डीजीआर कर्मी विमानन सुरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रमों में भाग ले रहे हैं. उन्हें 24 सितंबर से प्रशिक्षण पूरा करने के बाद तैनात कर दिया जाएगा. कोलकाता हवाई अड्डे पर विमानन सुरक्षा प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग लेने के बाद 9 सितंबर से पहले से ही 74 डीजीआर सुरक्षा कर्मियों को तैनात किया गया है. शेष सुरक्षा कर्मियों की तैनाती की प्रक्रिया चल रही है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें