scorecardresearch
 

ओडिशा: CM पटनायक ने लॉन्च किया स्मार्ट हेल्थ कार्ड, हर साल 10 लाख तक मुफ्त इलाज

ओडिशा में पंचायत चुनाव नजदीक हैं. ऐसे में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जन-समर्थक योजनाओं के माध्यम से जीत हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं. इसी के तहत उन्होंने मलकानगिरी में बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना के स्मार्ट स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया.

सीएम ने बोंडा आदिवासी समुदाय की महिला को दिया पहला कार्ड सीएम ने बोंडा आदिवासी समुदाय की महिला को दिया पहला कार्ड
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 96 लाख परिवारों को मिलेगा योजना का लाभ
  • महिलाएं हर साल 10 लाख तक का करा सकेंगी इलाज
  • परिवार के अन्य सदस्यों के लिए यह सीमा 5 लाख रु

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शुक्रवार को मलकानगिरी से स्मार्ट हेल्थ कार्ड लॉन्च किया. इस मौके पर पटनायक ने मलकानगिरी जिले के बोंडा आदिवासी समुदाय की महिला धांगिडी मांझी को पहला कार्ड सौंपा. बताया जा रहा है कि इस योजना का लाभ 96 लाख परिवारों के करीब 3.5 करोड़ लोगों को मिलेगा. खास बात ये है कि इस कार्ड के तहत परिवार हर साल 5 लाख का इलाज फ्री में करवा सकता है. जबकि महिलाएं बीमा योजना के तहत इलाज के लिए 10 लाख रु का लाभ ले सकेंगी. 

ओडिशा में पंचायत चुनाव नजदीक हैं. ऐसे में ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक जन-समर्थक योजनाओं के माध्यम से जीत हासिल करने की कोशिश में जुटे हैं. इसी के तहत उन्होंने मलकानगिरी में बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना के स्मार्ट स्वास्थ्य कार्ड का वितरण किया. 
 
स्वतंत्रता दिवस पर किया था ऐलान
पटनायक ने स्वतंत्रता दिवस पर बीजू स्वास्थ्य कल्याण योजना के तहत 3.5 करोड़ लोगों को स्मार्ट स्वास्थ्य कार्ड बांटने का ऐलान किया था. इस योजना के तहत 96 लाख परिवारों के करीब 3.5 करोड़ लोगों को ये कार्ड जारी किया जाएगा. इस कार्ड के जरिए लोग राज्य के किसी भी सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में फ्री इलाज करा सकेंगे. ये कार्ड 1 सितंबर से ही मान्य होगा. 
 
पटनायक बोले- ये ऐतिहासिक कदम
ओडिशा संभवता देश का पहला राज्य है जिसने स्वास्थ्य क्षेत्र में इस तरह की सुविधा प्रदान की है. सरकार चरणबद्ध तरीके से लाभार्थियों को कार्ड जारी करेगी. इस मौके पर सीएम पटनायक ने कहा, यह भारत में स्वास्थ्य सेवाओं की दिशा में एक ऐतिहासिक, आदर्श बदलाव है. इसके तहत मरीज को बिना किसी खर्च के सबसे अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं मिलेंगी. 

इलाज का खर्च उठाएगा कार्ड
उन्होंने कहा, स्वास्थ्य ही धन है. अगर परिवार में कोई बीमार पड़ता है, तो हम अस्पतालों में इलाज के लिए होने वाले खर्च के लिए चिंतित हो जाते हैं, जिसके लिए कोई अपनी संपत्ति बेचता है या लोन लेता है. कुछ लोग इलाज के लिए बीच में ही बच्चों की पढ़ाई रोक देते हैं. यह स्मार्ट हेल्थ कार्ड अस्पतालों में इलाज का खर्च उठाने के लिए परिवारों पर अतिरिक्त दबाव को कम करने में मदद करेगा, ताकि लोग अपनी बचत अपने बच्चों की शिक्षा और अन्य घरेलू कामों पर खर्च कर सकें. 

महिलाएं 10 लाख तक करा सकेंगी फ्री इलाज
कार्ड धारक किसी भी अस्पताल में जाकर सुविधा ले सकता है. यह कार्ड देश के 200 अस्पतालों में मान्य होगा. कार्ड धारक परिवार हर साल 5 लाख रु का फ्री में इलाज करा सकती है. जबकि परिवार की महिलाओं के लिए यह सीमा बढ़कर 10 लाख रु सालाना हो जाती है. अकेले मलकानगिरी में 1.55 लाख परिवारों को योजना का लाभ मिलेगा. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें