scorecardresearch
 

2023 तक राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा चाहती है JUD, जानें क्या है ललन सिंह का प्लान

आरसीपी सिंह के हटने से खाली हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल में पार्टी के प्रतिनिधित्व पर JDU अध्यक्ष ललन सिंह ने साफ कहा है कि बहुत जल्द समय आने पर उचित निर्णय लिया जाएगा.

X
JDU अध्यक्ष ललन ने केंद्र सरकार से करीबी रिश्ते के सवाल पर भी जवाब दिया है. JDU अध्यक्ष ललन ने केंद्र सरकार से करीबी रिश्ते के सवाल पर भी जवाब दिया है.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नॉर्थ ईस्ट में संगठन को मजबूत करने में लगी है जेडीयू
  • ललन ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल होने पर भी दिया बयान

बिहार की सत्ता में साझीदार जदयू के लिए हाल के महीने उथल-पुथल भरे रहे. पार्टी के एक नेता को केंद्रीय मंत्रिमंडल से बाहर आना पड़ा और अब पार्टी ललन सिंह के नेतृत्व में आगे कदम बढ़ाने लगी है. ललन सिंह पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिलाने के लिए लगातार नॉर्थ ईस्ट के दौरे पर रह रहे हैं. पार्टी का मानना है कि नागालैंड में 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव में यदि सफलता मिलती है तो राष्ट्रीय पार्टी बनने का मौका मिल सकता है. 

ललन सिंह ने बातचीत में कहा कि नॉर्थ ईस्ट में पार्टी के विस्तार की संभावना ज्यादा है. 2018 में पार्टी ने वहां एक सीट जीती थी. मान्यता के लिए कम से कम छह फीसदी वोट चाहिए. तब हम चूक गए थे, लेकिन इस बार कोशिश विशेष रहेगी. यदि 2023 में सफलता मिली तो हम राष्ट्रीय पार्टी बन जाएंगे.

केंद्रीय मंत्रिमंडल पर जल्द निर्णय लेंगे

उधर, आरसीपी सिंह के हटने से खाली हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल में पार्टी के प्रतिनिधित्व पर ललन सिंह ने साफ कहा कि बहुत जल्द समय आने पर उचित निर्णय लिया जाएगा. आपको बता दें कि हाल में राष्ट्रपति के चुनाव के मौके पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ललन सिंह को नाम लेकर अपने बगल में बुलाया था. उसके बाद से सियासी चर्चा जोरों पर है कि ललन सिंह बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व के काफी करीबी होने लगे हैं. 

इस संबंध में उन्होंने कहा कि आज की तारीख में मंत्रिमंडल में शामिल होने की बात महज काल्पनिक ही कही जाएगी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से विचार-विमर्श कर इस मुद्दे पर कुछ कहा जाएगा. हालांकि ललन सिंह राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं और उन्हीं को फैसला लेना है कि मंत्रिमंडल में पार्टी दोबारा शामिल होगी या नहीं. इस मुद्दे पर उन्होंने कहा कि 2019 में नीतीश कुमार ने निर्णय लिया था, उसके बाद क्या हुआ- देख ही रहे हैं. जैसे ही कोई परिस्थिति आएगी, उसके बाद जगजाहिर हो जाएगी. 

कल क्या होगा... किसने देखा

पीएम के ये कहने पर 'ललन जी जरा इधर आईए' और केंद्र से करीबी रिश्ते के सवाल पर उन्होंने कहा कि ऐसी कोई संभावना नहीं है. कल क्या होगा किसको मालूम है. आज हमारे बीच कोई दिक्कत नहीं है. एनडीए पूरी तरह मजबूत है. वहीं, ललन सिंह ने केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के उस बयान पर अनभिज्ञता जताई, जिसमें नीतीश कुमार 2025 तक मुख्यमंत्री रहेंगे. इस पर ललन सिंह ने कहा कि धर्मेंद्र प्रधान ने क्या कहा- वो बताएंगे, लेकिन अभी तो सरकार चल रही है. सरकार में कोई दिक्कत नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें