scorecardresearch
 

Indian Railway: तेजस ट्रेनों ने तेल निकाला, IRCTC का पिटा दिवाला, रेलवे ने दिया हिसाब

Indian Railway: कांग्रेस पार्टी के सांसद ने तेजस ट्रेनों को लेकर सरकार से जवाब मांगा था. अब रेल मंत्रालय ने जवाब दिया है. संसद में दिए गए जवाब में सामने आया है कि पिछले कुछ सालों में इन ट्रेनों का संचालन करने में घाटा हुआ है.

X
IRCT is in loss for running tejas trains
IRCT is in loss for running tejas trains
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कोरोना की वजह से काफी वक्त बंद रहा ट्रेनों का संचालन
  • तेजस ट्रेनों पर भी पड़ा काफी बुरा असर

Indian Railway News: भारतीय रेलवे अपने यात्रियों की सुविधाओं का काफी ध्यान रखता है. कुछ साल पहले IRCTC ने तेजस ट्रेन का संचालन शुरू किया था, जिसमें यात्रियों को कई सुविधाएं मिलती हैं. लंबी दूरी की यात्रा में लगने वाला समय भी कम हो गया. IRCTC इस समय नई दिल्ली-लखनऊ और मुंबई-अहमदाबाद तेजस ट्रेनों का संचालन करता है, लेकिन अब जानकारी सामने आई है कि तेजस ट्रेनों को पिछले कुछ सालों में घाटे का सामना करना पड़ा है,

कोरोना की वजह ट्रेनें रहीं प्रभावित

कांग्रेस पार्टी के अनुमुला रेवंत रेड्डी ने तेजस ट्रेनों को लेकर सरकार से जवाब मांगा था. रेल मंत्रालय ने जानकारी दी है कि ये ट्रेनें पिछले दो वर्षों के दौरान कोविड -19 महामारी की वजह से लाभ नहीं दे पा रही है.

राजस्व पर पड़ा भारी असर

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के मुताबिक कोविड 19 महामारी के मद्देनजर ये दोनों ट्रेनें लंबे समय तक चालू नहीं थीं और यहां तक ​​कि ट्रेनों के फेरों में भी कमी की गई थी. यही वजह है कि भारतीय रेलवे खानपान और पर्यटन निगम (IRCTC) ने इन दोनों तेजस ट्रेन के संचालन में कम राजस्व हासिल किया.

जाने कितना हुआ घाटा

रेल मंत्रालय ने बताया कि लखनऊ-नई दिल्ली तेजस ट्रेन ने वर्ष 2019-20 के दौरान 2.33 करोड़ रुपये का लाभ कमाया, वहीं 2020-21 और 2021-22 में 16.69 करोड़ रुपये और 8.50 करोड़ रुपये का घाटा हुआ. इसी तरह, मुंबई-अहमदाबाद तेजस ट्रेन को वर्ष 2019-20, 2020-21 और 2021-22 में क्रमश: 2.91 करोड़ रुपये, 16.45 करोड़ रुपये और 15.97 करोड़ रुपये का घाटा हुआ.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें