scorecardresearch
 

कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद भारतवंशी इस तीसरी महिला को स्पेस में भेजेगा NASA

भारतीय मूल की अथिरा प्रीथा रानी केरल के तिरुवनंतपुरम की रहने वाली हैं. वह अंतरिक्ष में जाने वाली केरल की पहली यात्री बनने वाली हैं. हालांकि अभी उन्हें स्पेस में जाने से पहले तीन से पांच साल तक दी जाने वाली एक ट्रेनिंग पूरी करनी होगी.

X
भारतीय मूल की अथिरा प्रीथा रानी केरल के तिरुवनंतपुरम की रहने वाली हैं (फाइल फोटो)
भारतीय मूल की अथिरा प्रीथा रानी केरल के तिरुवनंतपुरम की रहने वाली हैं (फाइल फोटो)

भारतीय मूल की अथिरा प्रीथा रानी को नासा के 2022 एस्ट्रोनॉट ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए चुना गया है. 24 साल की अथिरा मूल रूप से केरल के तिरुवनंतपुरम की रहने वाली हैं. वह दुनिया भर से चुने गए उन 12 लोगों में से क हैं, जिन्हें नासा यह खास ट्रेनिंग देगा.

अथिरा को तीन से पांच साल तक यह ट्रेनिंग दी जाएगी. अगर अथिरा यह ट्रेनिंग पूरी कर लेती हैं तो वह कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की तीसरी महिला होंगी. इसके अलावा वह केरल की पहली बार अंतरिक्ष यात्री भी होंगी. यह ट्रेनिंग प्रोग्राम संयुक्त रूप रूप से नासा, कनाडाई अंतरिक्ष एजेंसी और कनाडा की राष्ट्रीय अनुसंधान परिषद द्वारा चलाया जाता है.

कनाडा में पति के साथ स्टार्टअप चलाती हैं

पति के साथ कनाडा में चलाती हैं स्टार्टअप

अथिरा कनाडा में अपने पति गोकुल के साथ एक्सो जियो एयरोस्पेस कंपनी नाम से एक स्टार्टअप चलाती हैं. उनके पिता का वी वेणु और मां का नाम प्रीता है. 

अथिरा की बचपन से ही अंतरिक्ष में दिलचस्पी थी. केरल की एक एस्ट्रोनॉमिकल सोसाइटी एस्ट्रा से अथिरा ने अपनी शुरुआती पढ़ाई की है. इसके बाद स्कॉलरशिप पर अथिरा ने कनाडा के ओटावा में Algonquin College से रोबोटिक्स की पढ़ाई की है.

इस दौरान उनकी गोकुल से शादी हो गई. इसके बाद दोनों ने मिलकर अंतरिक्ष अध्ययन से संबंधित रिसर्च के लिए स्टार्टअप शुरू किया. स्टार्टअप में काम करने के दौरान ही अथिरा को एस्ट्रोनॉट ट्रेनिंग प्रोग्राम के बारे में पता चला. 

(रिपोर्ट: Shibi)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें