scorecardresearch
 

पश्चिम बंगाल: ED रेड के बाद से 'कैश क्वीन' अर्पिता मुखर्जी की 4 कार गायब, CCTV से खोजा जा रहा सुराग

पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी की ईडी की रेड के बाद चार कारें गायब बताई जा रही हैं. इनमें से 2 कार अर्पिता के नाम पर हैं. ईडी के सूत्रों ने बताया कि अर्पिता के डायमंड सिटी फ्लैट से गिरफ्तारी के बाद से ही यह कारें गायब हैं. फिलहाल सीसीटीवी फुटेज देखकर कारों का सुराग लगाए जाने की कोशिश की जा रही है.

X
फाइल फोटो फाइल फोटो

पश्चिम बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले में आरोपी पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी की ईडी की रेड के बाद चार कारें गायब बताई जा रही हैं. ईडी सूत्रों के मुताबिक, अर्पिता की यह चारों कारें उसके डायमंड सिटी कॉम्प्लेक्स से गायब बताई जा रही हैं. इनमें से 2 कार अर्पिता के नाम पर हैं. अर्पिता के डायमंड सिटी फ्लैट से गिरफ्तारी के बाद से ही यह कारें गायब बताई जा रही हैं. फिलहाल सीसीटीवी फुटेज देखकर कारों का सुराग लगाए जाने की कोशिश की जा रही है. 

डायमंड सिटी फ्लैट से अर्पिता मुखर्जी की जो चार गाड़ियां गायब हैं, उनमें से दो गाड़ियां अर्पिता मुखर्जी के नााम पर हैं. इनमें होंडा सिटी (WB 06T 6000) और ऑडी (WB 02AB 9561) शामिल हैं. इससे पहले गुरुवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) को अर्पिता मुखर्जी के एक और फ्लैट के बारे में पता चला था. यह फ्लैट कोलकाता एयरपोर्ट के पास चिनार पार्क में है. यहां रॉयल रेजिडेंट बिल्डिंग की चौथी मंजिल पर 404 नंबर फ्लैट अर्पिता मुखर्जी के नाम पर है. इस बिल्डिंग के अकाउंटेंट के मुताबिक, इस फ्लैट का भी काफी रुपया मेंटेनेंस चार्ज के तौर पर अर्पिता के नाम बकाया है. अर्पिता को कई बार मेल करने के बाद भी कोई जवाब नहीं मिला.  

ईडी ने 23 जुलाई को अर्पिता के फ्लैट पर पहली बार छापा मारा था. इस दौरान ईडी को करीब 21 करोड़ रुपए कैश मिला था. इतना ही नहीं ईडी ने अर्पिता के घर से 20 मोबाइल और 50 लाख रुपए की ज्वैलरी भी बरामद की थी. ईडी को अर्पिता के घर से करीब 60 लाख की विदेशी करेंसी भी मिली थी. इसके बाद ईडी ने अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया था. 

उसके बाद ईडी की पूछताछ में अर्पिता मुखर्जी ने अपनी कुछ और संपत्तियों का जिक्र किया था. इनमें से में एक कोलकाता के बेलघरिया स्थित फ्लैट भी था. ईडी इस फ्लैट में दरवाजा तोड़कर दाखिल हुई. ईडी को अर्पिता के घर से 27.9 करोड़ रुपए कैश मिला है. इसमें 2000 रुपए और 500 रुपए के नोटों के बंडल थे. बताया जा रहा है कि नोटों को 20-20 लाख और 50-50 लाख के बंडल बनाकर रखा गया था. अगर दोनों दिन की कार्रवाई के दौरान कैश मिला लिया जाए तो यह करीब 50 करोड़ (48.9 करोड़) रुपए हो जाता है.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें