scorecardresearch
 

दिल्ली: अमानतुल्लाह खान तिहाड़ से बाहर आए, MCD के काम में दखल पर हुआ था केस

आप विधायक अमानतुल्लाह खान को साकेत कोर्ट से जमानत मिल गई है. उन पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप था. इसी आधार पर पुलिस भी उनकी जमानत का विरोध कर रही थी. लेकिन अभी के लिए कोर्ट ने उन्हें बड़ी राहत दे दी है.

X
आप विधायक अमानतुल्लाह खान को मिली जमानत आप विधायक अमानतुल्लाह खान को मिली जमानत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गुरुवार को गिरफ्तार हुए थे आप विधायक
  • मदनपुर में बुलडोजर कार्रवाई का किया था विरोध

आप विधायक अमानतुल्लाह खान साकेत कोर्ट से जमानत मिलने के बाद शुक्रवार रात तिहाड़ जेल से बाहर आ गए. उन पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप था. इसी आधार पर पुलिस भी उनकी जमानत का विरोध कर रही थी. लेकिन अभी के लिए कोर्ट ने उन्हें बड़ी राहत दे दी है.

अब जानकारी के लिए बता दें कि आप विधायक पुर MCD के एक्शन के दौरान दंगा करने और सरकारी काम में बाधा डालने की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था. जिस समय एमसीडी द्वारा दिल्ली के मदनपुर इलाके में अवैध अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई हो रही थी, तब अमानतुल्लाह खान ने इसका विरोध किया था. लेकिन बाद में पुलिस ने उन पर सरकारी काम में बाधा डालने का आरोप लगाया. उसी आधार पर पहले उन्हें हिरासत में लिया गया और फिर उनकी गिरफ्तारी हो गई. लेकिन अब दिल्ली पुलिस के तमाम दलीलों के बावजूद भी कोर्ट ने उन्हें जमानत दे दी है.

वैसे जिस समय आप विधायक को हिरासत में लिया गया था, उनकी तरफ से बीजेपी पर बड़ा वार हुआ था. साफ कहा गया था कि संविधान के खिलाफ जाकर ये बुलडोजर कार्रवाई की जा रही है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि  भाजपा के "बुलडोज़रतंत्र" का विरोध कर रही जनता पर पुलिस द्वारा लाठीचार्ज असंवैधानिक है. हम भाजपा की जनविरोधी नीतियों के ख़िलाफ़ हैं, जनता के हक़ की आवाज़ मैं हमेशा उठाता रहूंगा इसके लिए मुझे चाहे कितनी बार भी जेल जाना पड़े.

इस मामले में पुलिस की दलीलों की बात करें तो उनकी तरफ से कहा गया था कि अमानतुल्लाह एक हबीचुअल ऑफेंडर हैं. उनके खिलाफ जमीन पर कब्जा करने व मारपीट करने के मामले दर्ज हैं. इस बात पर भी जोर रहा था कि उनका बेल पर जाना कानून व्यवस्था को खराब कर सकता है. लेकिन कोर्ट ने सुनवाई के बाद इन दलीलों को खारिज कर दिया है.

वैसे अमनतुल्लाह खान को तो जमानत दे दी गई है, लेकिन दिल्ली के अंदर जारी ये बुलडोजर कार्रवाई इतनी जल्दी नहीं थमने वाली है. बीजेपी नेता प्रवीन शंकर कपूर ने नॉर्थ डीएमसी को एक पत्र लिखा है. उस पत्र में कहा गया है कि आम आदमी पार्टी के राउज एवेन्यू स्थित कार्यालय के बाहर सरकारी भूमी पर बनाए 2 कमरों को तोड़ना चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें