scorecardresearch
 

आज का दिनः बीजेपी से क्यों दूर हो रहे उसके पुराने साथी?

बिहार में बीजेपी की पुरानी सहयोगी जनता दल यूनाइटेड ने एनडीए से नाता तोड़ महागठबंधन का दामन थाम लिया है. कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद से बसवराज बोम्मई की छुट्टी की भी चर्चा तेज हो गई है. डोनाल्ड ट्रंप के घर एफबीआई की छापेमारी से उनकी लोकप्रियता पर किस तरह का प्रभाव पड़ेगा, सुनें आज का दिन में...

X
नीतीश कुमार और जेपी नड्डा (फाइल फोटो)
नीतीश कुमार और जेपी नड्डा (फाइल फोटो)

आप इसे राजनीतिक कुशलता कहेंगे या राजनीतिक अवसरवादिता. ये बहुत हद तक इस पर भी डिपेंड करता है कि आप किस तरफ हैं. कुल जमा निचोड़ ये है कि नीतीश कुमार अगुवा… बिहार के कल भी थे, आज भी दोपहर दो बजे शपथ लेने के बाद हो जाएंगे. बस बैनर बदल जाएगा पीछे का. बदल मंत्री भी जाएंगे. क्योंकि बीजेपी के विधायक अब विधानसभा में दूसरी ओर बैठेंगे और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), कांग्रेस, हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा यानी हम जैसी पार्टियों के विधायक उनकी जगह ले लेंगे.

आठवीं बार मुख्यमंत्री बनने जा रहे सुशासन बाबू और उनके सहयोगियों के बीच मंत्रिमंडल को लेकर क्या फॉर्मूला तय हुआ है? और बीजेपी से लगातार उसके पुराने प्रमुख सहयोगी छिटकते जा रहे हैं. चाहे वो महाराष्ट्र में शिव सेना हो, पंजाब में अकाली दल या अब बिहार में जनता दल यूनाइटेड हो, बिछड़े सभी बारी-बारी. तो सवाल है कि NDA यानी नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस, हिंदी में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की परिकल्पना जो रची गई थी कभी, अब क्या वो अप्रासंगिक हो गई है?

क्या BJP बसवराज बोम्मई को हटाने जा रही है?

साउथ में बीजेपी अब भी अपनी राजनीतिक जमीन तलाश रही है. तमिलनाडु, तेलंगाना, केरल हो या आंध्र प्रदेश, पार्टी की प्रजेंस न के बराबर है. ले दे के कर्नाटक में वो सरकार में है लेकिन वहां हर कुछ महीने के अंतराल पर नेतृत्व परिवर्तन की बात होने लगती है. बीएस येदियुरप्पा की पिछले बरस इसी जुलाई में छुट्टी हुई थी और राज्य के मुख्यमंत्री बने थे बसवराज बोम्मई.

रिपोर्ट्स के मुताबिक 15 अगस्त के बाद बीजेपी बोम्मई की जगह किसी और को मुख्यमंत्री बना सकती है. 6 और 7 अगस्त को बोम्मई दिल्ली भी आने वाले थे लेकिन कोविड हो जाने की वजह से नहीं आ सके. अमित शाह के पिछले हफ्ते कर्नाटक दौरे के बाद कहा जा रहा कर्नाटक बीजेपी में एक चुप्पी है और दबी-छिपी आवाज में एक बदलाव की बात हो रही है. लेकिन क्या वाकई ऐसा है कि मुख्यमंत्री बदल जाएंगे या पार्टी में या किसी और बदलाव की आहट है? बीजेपी लिंगायत समुदाय का समर्थन बोम्मई की अगुवाई में खो रही है?

छापे के बाद लोकप्रियता खो देंगे डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति और रिपब्लिकन नेता डोनाल्ड ट्रंप के फ्लोरिडा के घर पर छापा पड़ा. छापेमारी हुई एफबीआई यानी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन की जो कि अमेरिका की घरेलू इंटेलिजेंस और सिक्योरिटी एजेंसी है. छापेमारी के दौरान यहां तक कि ट्रंप के लॉकर को भी तोड़ दिया गया. ट्रंप ने इसे देश के लिए काला दिन कहा. ट्रंप पर राष्ट्रपति भवन छोड़ने के दौरान बक्से में भरकर कागजात ले जाने का आरोप लगा था. ये कार्रवाई उसी के मद्देनजर हुई है. तो छापेमारी के दौरान क्या मिला और ट्रंप पर किस तरह के आरोप हैं? ट्रंप की जो पॉपुलैरिटी अमेरिकी समाज में है, उसमें क्या कोई कमी इन वजहों से आ रही है?

इन खबरों पर विस्तार से चर्चा के अलावा ताजा हेडलाइंस, देश-विदेश के अखबारों से सुर्खियां, आज के दिन की इतिहास में अहमियत सुनिए 'आज का दिन' में.

10 अगस्त 2022 का यानी 'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें