scorecardresearch
 
न्यूज़

पानी की तेज धार से बम को निष्क्रिय कर देता है ये भारतीय रोबोट, बचाता है जवानों की जान

Mini Daksh Robot
  • 1/7

भारत के पास एक ऐसा स्वदेशी रोबोट है जो हमारे उन जवानों की जान बचाएगा जो बम स्क्वॉड में काम करते हैं. जो अपनी जान खतरे में डालकर बम खोजते हैं. उन्हें निष्क्रिय करते हैं. पतली और संकरी जगह पर बम को खोजना और उसे निष्क्रिय करना बेहद मुश्किल होता है. इसलिए इस रोबोट को बनाया गया है. इसका नाम है मिनी दक्ष (Mini Daksh). 

Mini Daksh Robot
  • 2/7

मिनी दक्ष (Mini Daksh) रोबोट की खासियत ये है कि ये प्लेन, बस, ट्रेन के अंदर जाकर बम खोजकर, उसे बाहर लाकर या बम स्क्वॉड को दे देगा. या फिर उसे खुद ही निष्क्रिय कर देगा. इसे रिमोट स्क्रीन के जरिए 100 मीटर दूर से संचालित किया जा सकता है. यानी बिना किसी इंसान के हस्तक्षेप के यह रोबोट यह सारा काम कर सकता है. इससे समय थोड़ा जरूर लगता है लेकिन सुरक्षा पूरी रहती है. 

Mini Daksh Robot
  • 3/7

मिनी दक्ष (Mini Daksh) का वजन 100 किलोग्राम है. यह 25 किलोग्राम वजन तक उठा सकता है. इसका आर्म 2.5 मीटर की लंबाई तक फैल सकता है. पतली जगह में जा सकता है. इसके आर्म में आगे एक क्लचर, एक एक्सरे कैमरा, एक वाटर जेट डिसरप्टर गन लगी रहती है. क्लचर सामान को पकड़ता है. उसे लेकर बाहर आता है. इसके बाद एक्सरे से स्कैन करके विस्फोटक की जांच की जाती है. फिर वाटर जेट डिसरप्टर गन से बम को निष्क्रिय कर दिया जाता है. 

Mini Daksh Robot
  • 4/7

मिनी दक्ष (Mini Daksh) की मांग एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (AAI), नेशनल सिक्योरिटी गार्ड (NSG) और जम्मू और कश्मीर पुलिस (J&K Police) ने की है. इस रोबोट को गुरुग्राम स्थित द हाइटेक रोबोटिक्स सिस्टम्स लिमिटेड ने भारतीय रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) के साथ मिलकर बनाया है. 

Mini Daksh Robot
  • 5/7

AAI ने इसे बनाने वाली कंपनी से 18 मिनी दक्ष (Mini Daksh) रोबोट्स की मांग की है. NSG ने 10 रोबोट्स मांगे हैं. वहीं, जम्मू और कश्मीर पुलिस ने पांच मिनी दक्ष रोबोट का ऑर्डर दिया है. इन सभी रोबोट्स को शहरी और सीमाई इलाकों में तैनात किया जाएगा. ताकि विस्फोटकों की जांच के दौरान या उन्हें निष्क्रिय करते समय बम स्क्वॉड के किसी जवान को नुकसान न पहुंचे. 

Mini Daksh Robot
  • 6/7

मिनी दक्ष (Mini Daksh) 40 डिग्री एंगल पर किसी भी जगह चढ़ सकता है. यह प्लेन सतह या सीढ़ियों पर भी चढ़ सकता है. इसकी गति 2 किलोमीटर प्रतिघंटा है. द हाइटेक रोबोटिक्स सिस्टम्स के अधिकारियों ने बताया कि ये रोबोट डिफेंस की दुनिया में एकदम नया प्रोडक्ट है. इससे हमारे जवानों की जान बचाना आसान होगा. साथ ही विस्फोटकों से किसी प्रकार का नुकसान नहीं होगा. 

Mini Daksh Robot
  • 7/7

मिनी दक्ष (Mini Daksh) रोबोट NSG द्वारा उपयोग किए जा रहे दक्ष (Daksh) रोबोट का छोटा वर्जन है. दक्ष रोबोट भारी है. इसका वजन 500 किलोग्राम है. जबकि मिनी दक्ष सिर्फ 100 किलोग्राम का है. दक्ष की सफलता को देखते हुए मिनी दक्ष बनाने की मांग आई थी. इसलिए डीआरडीओ और द हाइटेक रोबोटिक्स सिस्टम्स लिमिटेड ने मिलकर इसे बनाया. (सभी फोटोः ऋचीक मिश्रा/द हाइटेक रोबोटिक्स सिस्टम्स लिमिटेड)