scorecardresearch
 

दिल्ली: नूपुर शर्मा का सुराग नहीं, 4 दिनों से नोटिस देना चाह रही है मुंबई पुलिस

मुंबई की पायधूनी पुलिस नूपुर को समन देने दिल्ली पहुंची है. यहां रजा अकादमी ने नूपुर के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. नूपुर के खिलाफ समन लेकर पहुंची मुंबई पुलिस के मुताबिक, समन में 25 जून को 11 बजे बयान दर्ज कराने का निर्देश दिया गया है. बता दें कि नूपुर शर्मा के बयान पर कई मुस्लिम देशों ने विरोध जताया था.

X
बीजेपी से निष्कासित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा. -फाइल फोटो
बीजेपी से निष्कासित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नूपुर के खिलाफ मुंब्रा और ठाणे में भी केस 
  • मुंबई पुलिस नूपुर शर्मा को ट्रेस करने में जुटी

पैगंबर मोहम्मद को लेकर विवादित बयान देने वाली निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा का कोई सुराग नहीं मिल रहा है. दिल्ली में मौजूद महाराष्ट्र पुलिस उन्हें नोटिस देने के लिए ढूंढ रही है. महाराष्ट्र गृह विभाग के सूत्रों ने कहा है कि निलंबित भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा का पता नहीं चल रहा है. उन्होंने कहा कि पिछले चार दिनों से मुंबई पुलिस की टीम दिल्ली में नूपुर शर्मा का पता लगाने की कोशिश कर रही है.

मुंबई पुलिस के पायधूनी पुलिस स्टेशन में नूपुर शर्मा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है और महाराष्ट्र गृह विभाग के सूत्रों ने कहा कि पुलिस के पास शर्मा को गिरफ्तार करने के लिए पर्याप्त सबूत हैं. मुंबई पुलिस के अलावा ठाणे पुलिस कमिश्नरेट में भी नूपुर शर्मा के खिलाफ पैगंबर मोहम्मद पर उनकी टिप्पणियों के लिए मामले दर्ज हैं.

पहले ईमेल पर भेजा गया था समन: सूत्र

सूत्रों के मुताबिक, नूपुर शर्मा को इसके पहले उनके ईमेल पर समन भेजा गया था. अब पुलिस की एक टीम फिजिकल कॉपी देने दिल्ली आई है. नूपुर शर्मा को भेजे गए समन में मुंबई की पायधूनी पुलिस ने उन्हें 25 जून को 11 बजे बयान दर्ज कराने के लिए उपस्थित होने को कहा है. यह एफआईआर मुंबई पुलिस ने रजा अकादमी की शिकायत पर दर्ज की थी. 

नूपुर के खिलाफ मुंब्रा और ठाणे में भी केस 

नूपुर शर्मा को मुंब्रा पुलिस ने भी समन भेजा था. पुलिस ने उन्हें 22 जून को पेश होने के लिए कहा है. मुंब्रा में मोहम्मद गुफरान खान नाम के टीचर ने नूपुर के खिलाफ केस दर्ज कराया था. इसके अलावा एक केस ठाणे में भी दर्ज कराया गया है.

बता दें कि भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी की थी. विवाद बढ़ने के बाद भाजपा ने उन्हें पार्टी से 6 साल के लिए निलंबित कर दिया था. उनके बयान का भारत के अलावा दर्जन भर से ज्यादा इस्लामिक देशों ने भी विरोध किया था. कई राज्यों में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई थी.

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें