scorecardresearch
 

नवनीत राणा बैकफुट पर! कहा- मातोश्री के बाहर नहीं पढ़ेंगे हनुमान चालीसा, मकसद पूरा

निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने का ऐलान किया था. लेकिन सुबह से शिवसैनिकों के प्रदर्शन की वजह से राणा दपंति अपने घर से बाहर नहीं निकल पाया.

X
मुंबई में नवनीत राणा के घर के बाहर शिवसेना कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन मुंबई में नवनीत राणा के घर के बाहर शिवसेना कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
13:20
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नवनीत राणा ने किया था उद्धव के घर जाने का ऐलान
  • मातोश्री के बाहर नवनीत राणा को करना था हनुमान चालीसा का जाप
  • राणा के घर के बाहर पहुंचे शिवसैनिक, नहीं निकल सकीं बाहर

मुंबई में हनुमान चालीसा के जाप को लेकर विवाद गरमा गया है. निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का जाप करने का ऐलान किया था. बाद में दोपहर 3 बजे राणा दंपति ने फैसला वापस ले लिया और मातोश्री के बाहर नहीं जाने की घोषणा कर दी. नवनीत राणा ने सुबह 9 बजे का वक्त दिया था और इससे पहले ही बड़ी संख्या में शिवसैनिक उनके घर के बाहर पहुंच गए और हंगामा करने लगे. 

ये हंगामा खार इलाके में सांसद राणा के घर के बाहर किया जा रहा था. इधर, पुलिस ने दोनों को एक नोटिस जारी किया था, इसके बावजूद नवनीत राणा हनुमान चालीसा के पाठ पर अड़ी रहीं. वहीं, सीएम के बंगले मातोश्री के बाहर पुलिस ने सुरक्षा व्यवस्था को और कड़ा कर दिया है.

 

Mumbai Hanuman Chalisa Ruckus Updates:


- सांसद नवनीत राणा ने कहा कि हमारा उद्देश्य था कि संकट मोचन संकट हटाएं. उद्ध ठाकरे ने हमारे घर गुंडे भेजे हैं. शिवसेना तो खत्म हो गई है. असली शिवसैनिक तो बाला साहब के साथ चले गए हैं. अब गुंडों की शिवसेना रह गई है. हमारे मुख्यमंत्री का सिर्फ यही काम रह गया है कि किस पर क्या कार्रवाई करवानी है, किसे जेल भेजना है और किसे तड़ीपार करना है. 
- राणा ने कहा कि सीएम का ध्यान किसान सुसाइड पर नहीं रहता. बिजली समस्या पर नहीं बोलते. बेरोजगारी पर चुप रहते. राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से गुजारिश है कि हमारे महाराष्ट्र को बचाया जाए. यहां के हालात खराब हैं. दो साल तक सीएम मंत्रालय तक नहीं गए. उन्होंने कहा कि हमारा मकसद पूरा हो गया है. अब मातोश्री के बाहर प्रदर्शन नहीं करेंगे. 

- सांसद नवनीत राणा के विधायक पति रवि राणा ने मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा नहीं पढ़ने की घोषणा की है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मुंबई आ रहे हैं, इसलिए हम अपना विरोध वापस ले रहे हैं. हम किसी से डरते नहीं हैं. मैंने देवेंद्र फडणवीस से बात की. उन्होंने ये भी कहा कि पीएम का दौरा रद्द नहीं होना चाहिए.

- विधायक रवि  राणा और उनकी  सांसद पत्नी नवनीत राणा आज  दोपहर 3 बजे मुबंई में खार स्थित अपने घर पर प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करेंगी.

- विधायक रवि राणा का दावा है कि अमरावती में उनके घर पर हमला किया गया है. घर में उनके बच्चे हैं और अगर कुछ होता है तो उद्धव ठाकरे जिम्मेदार होंगे.

- सुबह 9 बजे जाने का वक्त था, लेकिन दोपहर 12 बज तक राणा दंपति घर से नहीं निकल पाए हैं. शिवसैनिक लगातार राणा के खार स्थित घर के बाहर डेरा जमाए बैठे हैं. यहां जोरदार तरीके से नारेबाजी की जा रही है. मौके पर पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है.
-  नवनीत राणा के चैलेंज पर शिवनेता प्रियंका चतुर्वेदी उनके घर के बाहर पहुंच गई हैं. उन्होंने कहा कि हम लोगों ने राणा दंपति का चैलेंज स्वीकार कर लिया है. आईए, हम आपको रास्ता दिखाएंगे और कोल्हापुरी मिर्ची और बड़ा पाव खिलाकर स्वागत करेंगे.

- नवनीत राणा ने कहा कि कोई हमला होता है या व्यवस्था बिगड़ती है तो इसके लिए पूरी तरह से सरकार जिम्मेदार है. हमें मातोश्री जाने से कोई नहीं रोक सकता है. सत्ता का दुरपयोग किया जा रहा है.
- रवि राणा ने कहा कि हम लोग मातोश्री जाने वाले थे. हमें घर के बाहर रोका जा रहा है. पुलिस दरवाजे के बाहर खड़ी है. अगर हनुमान चालीसा के लिए ठाकरे से परमीशन लेनी पड़ रही है तो ये दुर्भाग्य है.
- राणा दंपति ने कहा कि बजरंग बली की ताकत हमारे साथ है. हम हनुमान चालीसा पढ़ने के लिए जाएंगे. कोई हमें रोक नहीं सकता है.  
9.40 बजे तक दोनों पक्ष झुकने को तैयार नहीं थे.

- शिवसैनिकों का कहना है कि वे किसी कीमत पर राणा दंपति को मातोश्री नहीं जाने देंगे. राणा दंपति अमरावती वापस जाएं. दूसरी तरफ राणा दंपति का कहना है कि उन्होंने ऐलान किया है, इसलिए वह मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे. फिलहाल, राणा दंपति के घर के बाहर हजारों की संख्या में लोग जुटे हैं.
- राणा दंपति के बाहर शिवसैनिकों का हंगामा चल रहा है. राणा दंपति अपने घर में हैं. उन्होंने 9 बजे हनुमान चालीसा का पाठ करने के लिए मातोश्री पहुंचने का ऐलान किया था, लेकिन 9.30 बजे तक दंपति घर से बाहर नहीं निकले. नवनीत राणा का कहना है कि घर में घुसकर हमले की कोशिश की गई है.
- राणा दंपति के घर के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस तैनात है. शिवसैनिकों की मांग है कि राणा दंपति वापस अमरावती जाने का आश्वासन दें, तभी वह यहां से हटेंगे.
- इसके अलावा राणा और शिवसैनिकों के बीच टकराव को रोकने के लिए मालाबार हिल्स में मुख्यमंत्री के आधिकारिक आवास 'वर्षा' के बाहर भी भारी पुलिस बल तैनात किया गया है.

- राणा दंपति के घर के बाहर महिला शिवसैनिक कार्यकर्ता भी धरना दे रही हैं. यहां राणा दंपति के खिलाफ नारेबाजी की जा रही है. 

रवि राणा ने यह कहा...
निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मुंबई दौरे का हवाला देते हुए अपना आंदोलन वापस ले लिया है. विधायक रवि राणा ने कहा- मेरी भी जिम्मेदारी है कि मैं कानून और व्यवस्था बनाऊं. उन्होंने घोषणा की है कि प्रधानमंत्री का दौरा रद्द नहीं किया जाना चाहिए, इसलिए हम आंदोलन वापस ले रहे हैं.

रवि राणा ने कहा कि हमारी जिद थी कि सीएम हनुमान चालीसा का पाठ करें. मुख्यमंत्री ठाकरे कानून-व्यवस्था को बिगाड़ रहे हैं. हम किसी दबाव में नहीं हैं. हम इस आंदोलन खुद वापस ले रहे हैं. राणा ने कहा कि बाला साहेब के विचार अगर आपके (ठाकरे) पास भी हैं तो आप सही रास्ते पर जरूर आएंगे. भगवान राम और हनुमान का अपमान किया गया है. वह सबक सिखाएंगे.

रवि राणा ने कहा कि अमरावती और मुंबई में हमारे घर पर हमला किया गया. उस समय पुलिस कहां थी? पवार के घर पर हमला राज्य में कानून-व्यवस्था की स्थिति को दर्शाता है. राणा ने कहा- हम देखेंगे कि हमारे घर पर हमले के बाद अब क्या कार्रवाई की जाएगी. राणा ने कहा कि महाराष्ट्र पश्चिम बंगाल की ओर बढ़ रहा है. प्रधानमंत्री विकास का संकल्प लेकर महाराष्ट्र आ रहे हैं. मुख्यमंत्री का मानना ​​है कि लॉ एंड ऑर्डर की स्थिति बने और प्रधानमंत्री का दौरा रद्द कर दिया जाए. हनुमान चालीसा का इतना विरोध क्यों है? ये लोग महाराष्ट्र की व्यवस्था को अस्थिर करने का काम कर रहे हैं. हम आंदोलन वापस ले रहे हैं ताकि नागरिकों को परेशानी न हो और प्रधानमंत्री का दौरा रद्द ना हो.

देवेंद्र फडणवीस की सरकार में प्रदेश को बड़ी तेजी के साथ आगे लाया गया. उद्धव ठाकरे ने इससे 50 गुना ज्यादा राज्य को पीछे लाने का काम किया है. हम किसी के दबाव के आगे नहीं झुके हैं. हम आम लोगों से चुने गए हैं, इसलिए किसी से नहीं डरते हैं.

उसी भाषा में जवाब दिया जाएगा: संजय राउत
संजय राउत ने कहा कि अगर कोई हमारी लक्ष्मण रेखा को पार करेगा तो शिवसैनिकों को भी उनके घर पहुंचने का अधिकार है. हमें राष्ट्रपति, ईडी, सीबीआई की धमकी ना दें. अब हम उससे आगे निकल गए हैं. आप केंद्रीय पुलिस बल का उपयोग करके हमारे घर में घुसने की कोशिश करते हैं तो शिवसैनिक आपको नहीं छोड़ेगा. शिवसैनिक हमेशा मरने और मारने के लिए तैयार है. पश्चिम बंगाल में ममता ने इनके नाक में दम कर दिया और केरल में भी इन्हें समन्स लेने की जगह नहीं मिली. ये महाराष्ट्र है. यहां पर भी उलझने की कोशिश ना करे.

नवनीत राणा किसी के इशारे पर माहौल खराब कर रहीं: पाटिल
महाराष्ट्र के होम मिनिस्टर दिलीप पाटिल ने कहा कि अमरावती की सांसद नवनीत राणा और उनके पति राज्य सरकार की छवि खराब करना चाहते हैं. माहौल खराब करने की कोशिश कर रहे हैं. 'मातोश्री' के बाहर हनुमान चालीसा का पाठ करने की क्या जरूरत है, वे इसे अपने घर में कर सकते हैं. वे किसी के इशारे पर ऐसा कर रहे हैं. पाटिल आज दोपहर 1 बजे मीडिया को संबोधित करेंगे.

मोहित काम्बोज पर आरोपों की जांच कर रहे हैं: मुंबई पुलिस
इधर, मुंबई पुलिस की तरफ से कहा गया कि मोहित काम्बोज ने लिखित शिकायत दी है और शिवसेना कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया है कि मोहित काम्बोज ने 'मातोश्री' की रेकी की और अपनी कार में हॉकी स्टिक और अन्य हथियार ले जा रहे थे. हम सीसीटीवी फुटेज आदि से उनके दावों की पुष्टि कर रहे हैं.

बता दें कि शिवसेना नेताओं ने राणा दंपति को हनुमान चालीसा का जाप करने के लिए मुंबई आने की चुनौती दी थी. चेतावनी दी थी कि उन्हें शिवसैनिकों से करारा जवाब मिलेगा. उधर, दंपति की जिद को देखते हुए खार पुलिस ने बडनेरा से राणा दंपति को नोटिस जारी किया है. 

पुलिस का नोटिस मिलने के बाद भी राणा दंपति ने कहा कि विरोध झेलने को तैयार हैं लेकिन फैसला नहीं बदलेंगे. शनिवार सुबह मातोश्री जाएंगे. उन्होंने कहा कि हम नहीं चाहते कि सुरक्षा व्यवस्था बिगड़े इसलिए हमने लोगों को वहां आने से मना किया है. नवनीत ने कहा कि हिन्दुत्व के कारण ही उद्धव ठाकरे सीएम पद पर हैं लेकिन अब वह अपनी विचारधारा को भूल गए हैं. वहीं रवि राणा ने कहा, 'मैंने हनुमान जयंती पर सीएम को हनुमान चालीसा के पाठ में आमंत्रित किया था लेकिन वह विदर्भ नहीं आए.  
रवि राणा-नवनीत राणा
रवि राणा-नवनीत राणा

सांप्रदायिक तनाव फैलाना चाहते हैं राणा: एनसीपी

महा विकास अघाड़ी (एमवीए) सरकार की घटक एनसीपी ने भी विधायक राणा की घोषणा को लेकर बयान दिया. NCP ने आरोप लगाते हुए कहा कि वह (राणा दंपति) सरकार को अस्थिर करने और सांप्रदायिक तनाव को फैलाने के लिए ऐसा कर रहे हैं. 

बंटी-बबली हैं राणा दंपत्ति : संजय राउत 

शिवसेना सांसद संजय राउत ने मीडिया से कहा कि हनुमान चालीसा का पाठ करना और रामनवमी मनाना आस्था का विषय है, न कि दिखावे का. उन्होंने कहा- 'राणा जैसे लोग भाजपा के लिए नौटंकी और स्टंट करने वाले पात्र हैं. लोग इस तरह के स्टंट को गंभीरता से नहीं लेते. उन्होंने राणा दंपति को 'बंटी और बबली' करार दिया. 

शिवसेना के सांसद अनिल देसाई ने कहा कि हनुमान चालीसा को लेकर राणा जो स्टंट कर रही हैं, वह समस्या है. शिवसैनिक उन्हें हिंदुत्व की शिक्षा देंगे. जब चक्रवात आया या महाराष्ट्र को कई त्रासदियों का सामना करना पड़ा तब उन्होंने हनुमान चालीसा क्यों नहीं पढ़ा? मोहित कंबोज हनुमान चालीसा का पाठ करने दिल्ली क्यों नहीं जाते?

 

ये भी पढ़ें

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें