scorecardresearch
 

गुजरात में ओवैसी की एंट्री, BTW के साथ मिलकर AIMIM लड़ेगी निकाय चुनाव

आने वाले दिनो में गुजरात में 6 नगर निगमों, 31 जिला पंचायत, 231 तहसील पंचायत, और 51 नगरपालिका के चुनाव होने जा रहे हैं. इन्ही चुनावों को मद्देनजर रखते हुए दोनों पार्टियां चुनावी मैदान में एक साथ आ गई हैं.

ओवैसी की पार्टी और BTP का गठबंधन कई बड़ी पार्टियों के गणित को बिगाड़ सकता है ओवैसी की पार्टी और BTP का गठबंधन कई बड़ी पार्टियों के गणित को बिगाड़ सकता है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओवैसी की पार्टी AIMIM गुजरात में भी चुनाव लड़ने जा रही है
  • भारतीय ट्राइबल पार्टी और AIMIM में हुआ गठबंधन
  • गुजरात की 6 नगर निगमों के होने वाले हैं चुनाव

गुजरात में भारतीय ट्राइबल पार्टी और ओवैसी की AIMIM पार्टी के बीच गठबंधन हो गया है. इस बात की घोषणा शनिवार को बीटीपी के अध्यक्ष और आदिवासी नेता छोटू वसावा ने की है. छोटू वसावा ने AIMIM और BTP के गठबंधन की घोषणा करते हुए कहा है कि स्थानीय निकाय चुनावों में दोनों ही पार्टियां गठबंधन कर रही हैं

आपको बता दें कि आने वाले दिनो में गुजरात में 6 नगर निगमों, 31 जिला पंचायत, 231 तहसील पंचायत और 51 नगरपालिका के चुनाव होने जा रहे हैं. इन्ही चुनावों को मद्देनजर रखते हुए दोनों पार्टियां चुनावी मैदान में एक साथ आ गई हैं. ऐसा माना जा रहा है ये गठबंधन कई बड़ी पार्टियों के गणित को खराब कर सकता है. ये चुनाव इसलिए भी महत्वपूर्ण है क्योंकि इस चुनाव के साथ ओवैसी की पार्टी AIMIM की एंट्री गुजरात में होने वाली है.

देखें- आजतक LIVE

बीटीपी और AIMIM के गठबंधन की घोषणा करते हुए छोटू वसावा ने एक ट्वीट करते हुए लिखा है- 'गुजरात में आने वाले चुनावों में BTP और AIMIM मिलकर चुनाव लड़ेंगी और संविधान बचाने का काम करेंगी.' इस ट्वीट में वसावा ने वीडियो भी जारी किया है जिसमें वे अपनी पार्टी के गठबंधन और आगामी रणनीति के बारे में बता रहे हैं. 

छोटू वसावा के इस ट्वीट का ओवैसी ने भी रीट्वीट करते हुए स्वागत किया है. दिलचस्प बात ये है कि राजस्थान में BTP का समर्थन कांग्रेस के साथ था जिसे BTP द्वारा वापस ले लिया गया है. इसके बाद BTP ने AIMIM के साथ गठबंधन की घोषणा की है जो अन्य राज्यों में भी लागू होगा.

वसावा ने कहा कि बिहार चुनावों में AIMIM की पांच सीटें आई हैं. गुजरात में उनके साथ गठबंधन से हमारी सीटों में वृद्धि होगी. वसावा ने आगे कहा है कि हमारी कोशिश भाजपा और कांग्रेस दोनों को हराने की है. अबतक बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही पार्टियां सत्ता में रही हैं. उसमें जनता और हम दोनों ही खुश नहीं हैं तो ऐसे लोगों के साथ गठबंधन रखने का क्या फायदा है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें