scorecardresearch
 

दिल्ली: यमुना की चपेट में निगम बोध घाट, रुका अंतिम संस्कार

निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार के लिए लोगों की मदद करने वाले एक एनजीओ से जुड़े अनिल गुप्ता ने बताया कि यमुना नदी का जलस्तर बढ़ने की वजह से पानी घाट तक पहुंच गया है.

यमुना की चपेट में निगम बोध घाट (फोटो-पंकज जैन) यमुना की चपेट में निगम बोध घाट (फोटो-पंकज जैन)

दिल्ली में यमुना नदी के बढ़ते जलस्तर से निगम बोध घाट भी नहीं बच पाया है. कश्मीरी गेट के नजदीक मौजूद सबसे चर्चित निगम बोध घाट पर यमुना नदी से सटे अंतिम संस्कार के 10 प्लेटफॉर्म बाढ़ की चपेट में आ गए हैं. फिलहाल घाट से दूर और अंदर मौजूद प्लेटफॉर्म पर अंतिम संस्कार करने की व्यवस्था की गई है.

'आजतक' की टीम सोमवार को जब निगम बोध घाट पहुंची तो नदी किनारे मौजूद अंतिम संस्कार के 10 प्लेटफॉर्म पूरी तरह यमुना नदी के पानी मे डूबे हुए थे. निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार के लिए लोगों की मदद करने वाले एक एनजीओ से जुड़े अनिल गुप्ता ने बताया कि सुबह तक यहां अंतिम संस्कार करने की पूरी व्यवस्था थी लेकिन जलस्तर बढ़ने की वजह से घाट तक पानी पहुंच गया है. हालांकि, अंतिम संस्कार को लेकर कोई परेशानी नहीं है, निगम बोध घाट में प्लेटफॉर्म की कमी नहीं है.

निगम बोध घाट में एनजीओ से जुड़े अनिल गुप्ता ने कहा, प्रशासन की तरफ से चेतावनी दी गई है कि पानी अंदर न जाए इसलिए डेम भी बनाया गया है. यमुना का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है और नदी खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें