scorecardresearch
 

साध्वी ने चुनावी रैली में गाया भजन, कहा- मुझे पंजे से चिढ़ है

बीते दिनों दिल्ली में एक रैली के दौरान विवादित बयान ने साध्वी निरंजन ज्योति को सड़क से संसद तक चर्चा में ला दिया. यूपी के फतेहपुर से सांसद साध्वी के मसले पर संसद में हंगामा हुआ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी सदन में खेद जताना पड़ा. लेकिन इन सब के बीच साध्वी एक बार फिर चुनावी दंगल में कूद चुकी हैं. उन्होंने सोमवार को दिल्ली में दो रैलियों को संबोधित किया.

X
त्रिलोकपुरी रैली में साध्वी निरंजन ज्योति
त्रिलोकपुरी रैली में साध्वी निरंजन ज्योति

बीते दिनों दिल्ली में एक रैली के दौरान विवादित बयान ने साध्वी निरंजन ज्योति को सड़क से संसद तक चर्चा में ला दिया. यूपी के फतेहपुर से सांसद साध्वी के मसले पर संसद में हंगामा हुआ तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी सदन में खेद जताना पड़ा. लेकिन इन सब के बीच साध्वी एक बार फिर चुनावी दंगल में कूद चुकी हैं. उन्होंने सोमवार को दिल्ली में दो रैलियों को संबोधित किया.

त्रिलोकपुरी और न्यू अशोक नगर में आयोजित साध्वी की दोनों चुनवी रैलियों में जहां एक ओर लोगों की भीड़ दिखी, वहीं बड़ी संख्या में पुलिस बल और मीडिया के लोग तैनात रहे. अपनी पिछली गलती से सीख लेते हुए केंद्रीय मंत्री ने इस बार कोई विवादित बयान तो नहीं दिया, लेकिन उन्होंने पांच ऐसी बातें कहीं जो गौर फरमाने लायक है-

1) 'मैं ज्यादा कुछ नहीं कहूंगी, लोग बुरा मान जाते हैं. मुझे ज्यादा कुछ कहने की जरूरत भी नहीं है. जो समझदार होता है उसके लिए इशारा ही काफी है.'
2) 'मुझे पंजा मत दिखाइए, मुझे इससे चिढ़ है. दिखाना ही है तो हनुमानजी की तरह मुट्ठी दिखाइए.'
3) 'मैं जानती हूं कि त्रिलोकपुरी एक ग्रामीण इलाका है. लेकिन क्या यह दिल्ली का हिस्सा नहीं है? मैं जब यहां आ रही थी तो मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं फतेहपुर में हूं.'
4) 'मैं किसी का नाम नहीं लूंगी. यह कुछ लोगों को बहुत परेशान करता है.'
5) 'अब मुझे गाने दीजिए ताकि मीडियावालों को भी आज के लिए कुछ मिल जाए.'

खास बात यह भी रही कि साध्वी अपनी दोनों रैलियों के दौरान लगभग मुस्कुराती रहीं. यही नहीं, मंच से जब भी बोलने के क्रम में साध्वी हंसती, उनके साथ श्रोता भी हंसने लगते. साध्वी ने दोनों ही सभाओं को भजन के साथ खत्म किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें