scorecardresearch
 

ट्रांजिट कॉरिडोर निर्माण में 20 फीसदी पैसा केजरीवाल सरकार को देना था जो कि नहीं दिया: पीयूष गोयल

पीएम मोदी ने रविवार को दिल्ली में प्रगति मैदान ट्रांजिट कॉरीडोर के टनल का उद्गाटन किया है. इस रास्ते पर लगने वाले भीषण जाम से अब छुटकारा मिल सकेगा.

X
पीएम मोदी ने रविवार को टनल का उद्घाटन किया है पीएम मोदी ने रविवार को टनल का उद्घाटन किया है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली सरकार पर पीयूष गोयल का आरोप
  • अपने हिस्से का पैसा नहीं दिया

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर प्रगति मैदान ट्रांजिट कॉरिडोर के निर्माण में कुल लागत का 20 फीसदी पैसा न देने का आरोप लगाया है. टनल के उद्घाटन के दौरान उन्होंने कहा कि पूरा प्रोजेक्ट केंद्र सरकार को पूरा करना था कि जबकि कुल लागत का 20 फीसद दिल्ली सरकार को देना था जो कि नहीं दिया गया.'

गोयल ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में इन्फ्रांस्ट्रक्चर के मोर्चे पर कोई काम नहीं किया है. मोदी सरकार ने दिल्लीवालों को राहत दी है. गोयल ने कहा कि इस टनल से दिल्लीवासियों को बड़ा फायदा होगा. इस इलाके में ट्रैफिक की वजह से हर सालों लाखों लीटर पेट्रोल बर्बाद हो जाता है. केंद्रीय मंत्री ने बताया कि इस टनल के बन जाने से  अब हर साल 100 करोड़ रुपये का तेल खर्च होने से बचेगा और प्रदूषण को भी रोकने में बड़ी मदद मिलेगी. उन्होंने बताया कि टनल के रास्ते भारतीय संस्कृति पर आधारित पेंटिंग बनाई गई है. इसके साथ ही टनल के अंदर एग्जास्ट सिस्टम भी लगाया गया है.

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को प्रगति मैदान कॉरिडोर के तहत बनाई गई टनल और 5 अंडरपास का उद्घाटन किया. यह कॉरिडोर 6 लेन का है. कॉरिडोर की मुख्य सुरंग प्रगति मैदान से गुजरते हुए पुराना किला रोड होते हुए रिंग रोड को इंडिया गेट से जोड़ती है. इसके जरिए प्रगति मैदान की विशाल बेसमेंट पार्किंग तक पहुंचा जा सकता है. 

दरअसल रिंग रोड, मथुरा रोड और भैरों मार्ग पर अक्सर जाम की स्थिति बनी रहती है. चौराहों और आसपास के केंद्रों जैसे गाजियाबाद, नोएडा, एनसीआर क्षेत्र में तेजी से हो रहे विकास ने इन तीनों सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बढ़ा दी है. दिल्ली-मथुरा एक्सप्रेस-वे के कारण ट्रैफिक लोड और बढ़ गया है.

यह कॉरिडोर स्मार्ट फायर प्रबंधन, आधुनिक वेंटिलेशन, स्वचालित जल निकासी, डिजिटल रूप से नियंत्रित सीसीटीवी और सुरंग के अंदर सार्वजनिक घोषणा प्रणाली जैसी नवीनतम वैश्विक सुविधाओं से लैस है.

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें