scorecardresearch
 

BKU दफ्तर पर 3.5 करोड़ रुपए बकाया, टिकैत और चौहान एक-दूसरे पर फाड़ रहे हैं बिल

लखनऊ के पुराने विधायक निवास OCR में A ब्लॉक का फ्लैट नंबर 407 में भारतीय किसान यूनियन का कार्यालय है. लखनऊ में BKU का अब तक यही पता रहा है. यह दफ्तर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे राजेश सिंह चौहान के नाम पर आवंटित है.

X
(File Photo) (File Photo)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लखनऊ स्थित दफ्तर पर किराया-बिजली का बिल बकाया
  • राजेश के नाम अलॉट, राकेश पर यूज करने का आरोप

भारतीय किसान यूनियन में दो फाड़ हो गया है. राकेश टिकैत वाले गुट से BKU के कई नेता अलग हो गए हैं और अब भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) अलग संगठन बन गया है. इसके अध्यक्ष राजेश सिंह चौहान बनाए गए हैं. इन सबके बीच, अभी भी झगड़ा थमा नहीं है. अब नया विवाद भारतीय किसान यूनियन के सरकारी दफ्तर को लेकर खड़ा हो सकता है. लखनऊ स्थित इस दफ्तर पर करीब 3.5 करोड़ के बिल बकाया हैं. अब इसका भुगतान कौन करेगा?

लखनऊ के पुराने विधायक निवास OCR में A ब्लॉक का फ्लैट नंबर 407 में भारतीय किसान यूनियन का कार्यालय है. लखनऊ में BKU का अब तक यही पता रहा है. यह दफ्तर भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे राजेश सिंह चौहान के नाम पर आवंटित है. लेकिन अब इसी दफ्तर को लेकर भारतीय किसान यूनियन और नए संगठन में विवाद खड़ा हो रहा है. भारतीय किसान यूनियन के इस दफ्तर पर करीब 3.5 करोड़ का बिल बकाया है, जिसमें किराया, बिजली का बिल आदि शामिल है.

अब चूंकि भारतीय किसान यूनियन से राजेश सिंह चौहान अलग हो चुके हैं और वह भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के राष्ट्रीय अध्यक्ष बन गए हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि यह बकाया बिल कौन देगा? राकेश टिकैत पहले ही कह चुके हैं कि सरकार ने इसी बकाया बिल की वसूली का नोटिस भेजकर राजेश सिंह चौहान को डरा दिया है.

वहीं, नए संगठन भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष हरिनाम सिंह का कहना है कि इस दफ्तर की ताला-चाबी राकेश टिकैत के जिला अध्यक्ष गुरमीत सिंह के पास है. इस दफ्तर का प्रयोग राकेश टिकैत ही करते रहे हैं. जब वह प्रयोग कर रहे हैं तो वही उसका बिल देंगे. हम इस संबंध में राज्य संपत्ति विभाग को भी पत्र लिखेंगे कि इस दफ्तर से हमारे राष्ट्रीय अध्यक्ष या हमारे संगठन का कोई लेना-देना नहीं है. लिहाजा, इसका अलॉटमेंट कैंसिल किया जाए और बकाया उपयोगकर्ताओं से वसूला जाए.

बता दें कि उत्तर भारत में किसान आंदोलन और संगठन के प्रणेता चौधरी महेंद्र सिंह की पुण्यतिथि पर भारतीय किसान यूनियन में दो फाड़ हो गए हैं. नरेश टिकैत और राकेश टिकैत वाली भारतीय किसान यूनियन से जुड़े कई किसान नेताओं ने अलग होकर एक नया संगठन भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) बनाया है. राजेश सिंह चौहान को इसका राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया. राजेंद्र सिंह मलिक संरक्षक होंगे. संगठन में बिंदु कुमार, कुंवर परमार सिंह, बलराम सिंह, नितिन सिरोही, विक्रम सैनी, सुरेंद्र वर्मा, विमल तोमर, योगेश प्रधान, आदर्श चौधरी, धर्मेंद्र सिंह, महेंद्र रंधावा, सुनील सिंह, राज कुमार गौतम, प्रीतम सिंह, राजेंद्र सिंह, दीपक, नीरज बालियान बलबीर सिंह, पुष्पेंद्र सिंह, शैलू आर्य जैसे कई जाने-माने चेहरे शामिल किए गए हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें